नंदीग्राम में पैर में चोट लगने से घायल हुईं ममता बनर्जी, बोलीं-किसी ने धक्‍का दिया, भाजपा ने बताया नाटक

Advertisements

 कोलकाता : बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को नंदीग्राम से अपना नामांकन दाखिल कर दिया। हल्दिया में नामांकन पत्र दाखिल कर ममता वापस नंदीग्राम आकर कई मंदिरों में जाकर पूजा कीं। इसी दौरान एक मंदिर में दर्शन के बाद निकलते समय ममता के पैर में चोट लग गईं। इसके बाद ममता वापस कोलकाता लौट रहीं हैं। ममता ने इसके पीछे साजिश का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि जब वह मंदिर से बाहर निकल रही थी तो उनकी गाड़ी के पास अचानक चार-पांच युवक आकर उनको धक्का दिया, जिसके चलते उनके पैर में गंभीर चोटें आई है।

 

इसे भी पढ़ें-  कटनी कोरोना अपडेट: आज मिले 39 पॉजिटिव केस, रविवार को 326 लोगों के लिए गए थे सेम्पल

ममता ने मीडिया के सामने कहा कि उन्हें काफी दर्द हो रहा है और पैर फूल गया है। ममता ने यह भी आरोप लगाया कि घटना के वक्त मौके पर एक भी स्थानीय पुलिसकर्मी व एसपी मौजूद नहीं थे। उनके साथ रहने वाले सुरक्षाकर्मी सिर्फ मौजूद थे। ममता के इस आरोप के बाद यह भी सवाल उठता है कि जब उन्हें जेड प्लस की सुरक्षा उपलब्ध है तो कैसे चार-पांच युवकों ने आकर उन्हें धक्का मार दिया। बता दें कि ममता रात में नंदीग्राम में ही रहने वाली थी लेकिन इस घटना के बाद वह वापस कोलकाता लौट रही हैं। गुरुवार को वह कालीघाट स्थित अपने आवास से पार्टी का चुनावी घोषणापत्र भी जारी करने वाली हैं।

ममता ने मीडिया के सामने कहा कि उन्हें काफी दर्द हो रहा है और पैर फूल गया है। ममता ने यह भी आरोप लगाया कि घटना के वक्त मौके पर एक भी स्थानीय पुलिसकर्मी व एसपी मौजूद नहीं थे। उनके साथ रहने वाले सुरक्षाकर्मी सिर्फ मौजूद थे। ममता के इस आरोप के बाद यह भी सवाल उठता है कि जब उन्हें जेड प्लस की सुरक्षा उपलब्ध है तो कैसे चार-पांच युवकों ने आकर उन्हें धक्का मार दिया। बता दें कि ममता रात में नंदीग्राम में ही रहने वाली थी लेकिन इस घटना के बाद वह वापस कोलकाता लौट रही हैं। गुरुवार को वह कालीघाट स्थित अपने आवास से पार्टी का चुनावी घोषणापत्र भी जारी करने वाली हैं।

Advertisements