Police Promotion: पदोन्नत की वर्षों से राह देख रहे अधिकतर पुलिस कर्मियों में खुशी की लहर

Advertisements

आरक्षण का मामला फंसे होने की वजह से प्रभारी पदोन्नत का रास्ता निकलने के बाद 493 पुलिस कर्मियों के कंधे पर तीन फीती और सितारे लगेंगे।

हालांकि इसमें से चार आरक्षक और छह प्रधान आरक्षक ने पदोन्नत लेने से मना कर दिया है। इस संबंध में सभी ने स्थापना में आवेदन दिया है।

किसी ने उम्र का हवाला दिया तो किसी ने शारीरिक रूप से सक्षम न होने का कारण बताया है। पुलिस सूत्रों की मानें तो ऐसी संख्या 40 तक पहुंच सकती है।

बहरहाल पदोन्नत की वर्षों से राह देख रहे अधिकतर पुलिस कर्मियों में खुशी की लहर है। पदोन्नत पाने वाले पुलिस कर्मी वेतन पहले से पा रहे हैं। अब प्रभारी पदोन्नत मिलने से आगे की जिम्मेदारी भी निभा पाएंगे। जिला पुलिस को भी 219 नए विवेचक प्राप्त हो जाएंगे।

इसे भी पढ़ें-  MP: बीजेपी नेता का वायरल वीडियो- 'सरकार तो राजा साहब की थी' 

विवेचक न होने से कई थानों में लंबित प्रकरणों की संख्या बढ़ती जा रही है।

हर महीने प्रधान आरक्षक व एएसआई के पद पर कार्यरत लोग रिटायर हो रहे हैं। एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने प्रधान आरक्षक संजय मिंश्रा के कंधे पर सितारा लगाकर पदोन्नत की बधाई दी।

आईजी व एसपी ने दी बधाई
मानस भवन में आयोजित कार्यक्रम में एक साथ आरक्षक से प्रधान आरक्षक के पद पर पदोन्नत हुए 274 आरक्षकों के कंधे पर जहां तीन फीती लगाई गई। वहीं प्रधान आरक्षक से आरक्षक बने 219 पुलिस कर्मियों के कंधे पर सितारे लगाए गए। आईजी भगवत सिंह चौहान और एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने सभी को बधाई देते हुए अपनी नई भूमिका का निष्पक्ष निर्वहन की सीख दी।

इसे भी पढ़ें-  धर्म के ठेकेदार इस पर ध्यान दें: इलाहाबाद हाईकोर्ट की टिप्पणी, सिर्फ विवाह के लिए धर्म परिवर्तन स्वीकार्य नहीं
पदनाम स्वीकृत बल पदस्थापना रिक्त बल
एसपी 01 01 00
एएसपी 05 05 00
डीएसपी/सीएसपी 21 20 01
रक्षित निरीक्षक 01 01 00
टीआई 54 41 13
एसआई 260 217 43
सूबेदार ​​​​​​​ 15 15 00
एएसआई ​​​​​​​ 429 222 207
प्रधान आरक्षक 793 504 289
आरक्षक 2426 2425 01

 

 

 

Advertisements