टीकाकरण के प्रमाण पत्र से हटेगा पीएम मोदी का फोटो, चुनाव आयोग ने कहा- विकल्प तलाशे स्वास्थ्य मंत्रालय

Advertisements

नई दिल्ली। केंद्रीय चुनाव आयोग ने तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की तरफ से केंद्र सरकार पर लगाया गया आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप खारिज कर दिया।

टीएमसी सांसद डैरेके ओब्रायन ने यह आरोप कोरोना टीकाकरण प्रमाणपत्र पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फोटो का इस्तेमाल किए जाने को लेकर लगाया था। हालांकि आयोग ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को प्रमाणपत्र पर प्रधानमंत्री की तस्वीर का विकल्प तलाशने का आदेश दिया है।

आयोग के सूत्रों के अनुसार, टीएमसी सांसद ने अपनी शिकायत में कहा था कि कोरोना वैक्सीन के डिजिटल प्रमाणपत्र पर पीएम नरेंद्र मोदी की तस्वीर का उपयोग पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों के दौरान अधिकारिक मशीनरी का दुरुपयोग है।

इसे भी पढ़ें-  कटनी कोरोना अपडेट: आज मिले 39 पॉजिटिव केस, रविवार को 326 लोगों के लिए गए थे सेम्पल

आयोग ने इस बाबत बुधवार को बंगाल के मुख्य चुनाव अधिकारी से रिपोर्ट तलब की थी। बंगाल के मुख्य चुनाव अधिकारी ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि टीकाकरण अभियान केंद्र की योजना है।

लिहाजा  डिजिटल प्रमाणपत्र पर पीएम की तस्वीर लगाने का फैसला भी केंद्र सरकार का है। सूत्रों का कहना है कि इसके बाद आयोग ने स्वास्थ्य मंत्रालय को इस तस्वीर का विकल्प तलाशने का निर्देश दिया है।

 

Advertisements