Google Cookies: गूगल का बड़ा फैसला, यूजर्स की ब्राउजिंग और प्राइवेसी पर ये निर्णय

Advertisements

Google Third Party Cookies: गूगल (Google) ने एक बड़ा फैसला लिया है। कंपनी ने कहा कि सिस्टम से थर्ड पार्टी कुकीज (Third Party Cookies) को खत्म करने के बाद वह यूजर्स के ब्राउजिंग पर नजर नहीं रखेगी। गूगल ने कहा, ‘उनके लिए लोगों की प्राइवेसी प्राथमिकता है। वह क्रोम पर ब्राउजिंग करने वालों की पहचान के लिए कोई वैकल्पिक तकनीक भी विकसित नहीं करेगी।’ पिछले साल कंपनी ने ऐलान किया था कि वह अगले दो वर्ष में क्रोम को थर्ड पार्टी कुकीज से फ्री कर देगी।

बता दें थर्ड पार्टी कुकीज छोटे-छोटे कोड होते हैं। जिसका इस्तेमाल वेबसाइट को विज्ञापन देने वाले ग्राहकों के व्यक्तिगत ब्राउजिंग को रिकॉर्ड करने के लिए करते हैं। जिसके आधार पर उनके इंस्टेस्ट का पता लगाया जाता है। उसी के मुताबिक ऑनलाइन विज्ञापन भेजे हैं। एक ब्लॉगपोस्ट में कंपनी ने कहा कि यूजर के डाटा का कई कंपनियों में प्रसार हुआ है। आमतौर पर यह थर्ड पार्टी कुकीज के जरिए इकट्ठा किया जाता है। इसके कारण लोगों का विश्वास कम हुआ है।

इसे भी पढ़ें-  पीरबाबा दरगाह में चोरी की वारदात का पर्दाफाश, कमेटी ने पुलिस का किया सम्मान

 

गूगल ने पेव रिसर्च सेंटर के डाटा के हवाले से कहा है कि अधिकांश लोगों का मानना है कि वो कुछ ऑनलाइन करते हैं। उसपर विज्ञापनदाता, टेक्निकल कंपनियां और अन्य कंपनियां नजर रखती है। यूजर्स का कहना है कि डेटा से उन्हें जोखिम रहता है। कंपनी ने कहा, ‘अगर विज्ञापनों और डाटा के उपयोग को लेकर बढ़ती चिंताओं को दूर नहीं किया गया, तो मुफ्त वेब के भविष्य को खतरा है।’

Advertisements