सावधान! आपकी कॉल भी तो नहीं हो रही रिकार्ड, ऐसे लगाएं पता

Advertisements

एंड्रॉयड स्मार्टफोन्स में वॉयस कॉल रिकॉर्ड करना आसान है. कई स्मार्टफोन्स में तो इनबिल्ट कॉल रिकॉर्ड का फीचर दिया जाता है. जिन एंड्रॉयड स्मार्टफोन में ये फीचर नहीं होता है वो प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सतके हैं.

 

बिना इजाजत किसी की कॉल रिकॉर्ड करना कहीं न कहीं चोरी करने जैसा ही है.

अगर आप किसी से पर्सनल बाते कर रहे हैं और कोई आपकी कॉल रिकॉर्ड कर रहा है तो ये आपके लिए गंभीर समस्या बन सकती है. इसलिए कॉलिंग करते समय आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए ताकि ये पता लगा सकें कि कुछ तो गड़बड़ है.

इसे भी पढ़ें-  धरने पर बैठ पुराना शौक पूरा कर रहीं ममता बनर्जी, पेंटिंग बना समर्थकों को दिखाईं

कॉलिंग के दौरान अगर आपको कुछ सेकंड्स या मिनट्स पर बीप की आवाज सुनाई दे तो सचेत हो जाएं. क्योंकि ये सबसे सिंपल और आसान तरीका कॉल रिकॉर्डिंग के बारे में जानने के लिए. कॉल की शुरुआत में, मिड में या बीच बीच में बीप की आवज मिले तो मुमकिन है सामने वाला आपकी बातें रिकॉर्ड कर रहा है. अब बात करते हैं दूसरे तरीके की…

अगर आपने किसी को कॉल किया है और अगले शख्स ने स्पीकर पर डाल दिया है. ऐसे में भी आपको सचेत होने की जरूरत है, क्योंकि स्पीकर पर रख कर कॉल रिकॉर्ड करना सबसे आसान है. इसके लिए किसी दूसरे फोन या रिकॉर्डर को पास में रख कर आपकी आसानी से रिकॉर्ड की जा सकती है. इसलिए जिस पर भरोसा न हो और वो आपसे स्पीकर पर बात कर रहा है तो सचेत हो जाएं.

इसे भी पढ़ें-  Katni: पहले लोडर ऑटो में दी लिफ्ट फिर लूट लिया, NKJ पुलिस ने 4 को दबोचा

तीसरा ऑप्शन आपके पास ये है कि अगर कॉलिंग के दौरान अलग नॉयज आ रही है तो इस स्थिति में भी सचेत हो सकते हैं. कई बार आपको बीच बीच में नॉयज सुनने को मिलेगा, इस बार से भी कॉल रिकॉर्डिंग का अंदाजा लगाया जा सकता है. जरूरी ये है कि आप कॉलिंग के दौरान छोटी छोटी चीजों पर गौर करें.

आखिरी बात… कई ऐप्स बिना बीप साउंड के ही कॉल रिकॉर्ड करते हैं. इसलिए आपके पास शायद ये समझने का ऑप्शन ही न हो की कोई कॉल रिकॉर्ड कर रहा है. चूंकि भारत में इसे लेकर कोई पुख्ता कानून भी नहीं है जिससे इस तरह की रिकॉर्डिंग ऐप्स पर बैन लगाया जा सके.

Advertisements