पुड्डुचेरी में गिरी कांग्रेस सरकार, सदन में बहुत साबित नहीं कर पाए नारायणसामी

Advertisements

पुड्डुचेरी में कांग्रेस और डीएमके के गठबंधन की सरकार गिर गई है। मुख्यमंत्री वी नारायणसामी सोमवार को सदन में बहुमत साबित नहीं कर पाए। अब नारायणसामी उपराज्यपाल से मिलने के लिए राज निवास जा रहे हैं। उन्हें उपराज्यपाल तमिलसाईं सुंदरराजन ने विधानसभा में आज शाम पांच बजे तक बहुमत साबित करने का निर्देश दिया था। सत्तारूढ़ गठबंधन की संख्या रविवार को दो नए इस्तीफे के बाद घटकर 11 हो गई थी। वहीं 33 सदस्यीय विधानसभा में विपक्ष के पास 14 विधायकों का समर्थन था। आज सदन में चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि विधायकों को पार्टी के प्रति वफादार होना चाहिए। वहीं उन्होंने पूर्व राज्यपाल और केंद्र सरकार पर विपक्ष के साथ साठगांठ करने का आरोप लगाया।

अनिश्चितकाल के लिए स्थगित हुई विधानसभा
विधानसभा अध्यक्ष का कहना है कि नारायणसामी सरकार बहुमत साबित नहीं कर सकी और सदन की कार्यवाही को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है।

अपने विधायकों को एकजुट नहीं रख पाई कांग्रेस
विपक्ष के नेता और ऑल इंडिया एनआर कांग्रेस के संस्थापक नेता एन रंगासामी ने कहा कि कांग्रेस अपने विधायकों को एकजुट रखने में विफल रही।

सदन में बहुमत साबित नहीं कर पाए नारायणसामी
विधानसभा में पुड्डुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणसामी बहुमत साबित नहीं कर पाए। इसके साथ ही उनकी सरकार गिर गई है।

Puducherry CM V.Narayanasamy loses trust vote in Assembly, government falls pic.twitter.com/iFVE9g7jvf
— ANI (@ANI) February 22, 2021

 

विधायकों को रहना चाहिए वफादार: नारायणसामी
सदन में मुख्यमंत्री वी नारायणसामी ने कहा, ‘विधायकों को पार्टी के प्रति वफादार रहना चाहिए। इस्तीफा देने वाले विधायक लोगों का सामना नहीं कर पाएंगे क्योंकि लोग उन्हें अवसरवादी कहेंगे।’

पूर्व उपराज्यपाल और केंद्र पर मुख्यमंत्री ने साधा निशाना
मुख्यमंत्री नारायणसामी ने सदन में चर्चा करते हुए पूर्व उपराज्यपाल और केंद्र पर निशाना साधते हुए कहा, ‘पूर्व उपराज्यपाल किरण बेदी और केंद्र सरकार ने विपक्ष के साथ साठगांठ की और सरकार को गिराने की कोशिश की। जैसे ही हमारे विधायक एकजुट हुए, हम लगभग पांच साल पूरे करने में सफल रहे। केंद्र ने हमारे द्वारा मांगी गई धनराशि न देकर पुड्डुचेरी के लोगों के साथ धोखा किया है। हमने द्रमुक और निर्दलीय विधायकों के समर्थन से सरकार बनाई। इसके बाद, हमने विभिन्न चुनावों का सामना किया। हमने सभी उपचुनाव जीते हैं। यह स्पष्ट है कि पुड्डुचेरी के लोग हम पर भरोसा करते हैं। तमिलनाडु और पुड्डुचेरी में, हम दो भाषीय प्रणाली का पालन करते हैं लेकिन भाजपा हिंदी को लागू करने की जबरन कोशिश कर रही है।

 

Advertisements