महिला का हैरान करने वाला दावा, हवा के तेज झोंके से हुई प्रेग्नेंट, पुलिस कर रही जांच

Advertisements

वेब डेस्क: ajab gajab यदि आपसे कोई पूछे कि क्या कोई महिला हवा के झोंके से गर्भवती हो सकती है? इस सवाल का जवाब में आप नहीं ही कहेंगे। लेकिन, आप जानकर हैरान रह जाएंगे कि इंडोनेशिया में एक महिला ने दावा किया है कि वह हवा के झोंके से ही गर्भवती हुई है।

मीडिया के मुताबिक, प्रेगनेंसी के इस मामले में अब इंडोनेशिया की पुलिस इस बात के जांच में लग गई है कि महिला आखिर इस तरह का दावा किस आधार पर कर रही है और उसकी सच्चाई क्या है?

मामला इसलिए भी गंभीर है क्योंकि 25 वर्षीय सती जैनाह नाम की इस महिला ने यह भी दावा किया है कि गर्भवती होने के एक घंटे बाद ही उसने बच्चे को जन्म दिया है।

महिला का दावा, प्रेग्नेंट होने के एक घंटे बाद ही उसने बच्चे को दिया जन्म-

महिला ने जैसे ही उसे महसूस हुआ कि वह प्रेग्नेंट हुई है, इसके ठीक एक घंटे बाद ही उसने बच्चे को जन्म भी दे दिया है। खबरों के मुताबिक, उसने पिछले हफ्ते दक्षिणी इंडोनेशिया के पश्चिम जावा प्रांत में स्थित सियानजुर शहर में एक स्वस्थ बच्ची को जन्म दिया है।

कमरे में थी जब उसके घर में हवा का एक झोंका आया

इस घटना का जिक्र करते हुए महिला ने पुलिस को बताया कि वह अपने रहने वाले कमरे में थी जब उसके घर में हवा का एक झोंका आया। इसके बाद सिर्फ 15 मिनट बाद ही उसने कहा कि उसके पेट में दर्द होने लगा है, जो बहुत तेजी से बढ़ने लगा।

महिला ने कहा कि ऐसा लगा कि हवा का झोंका मेरी योनि में प्रवेश कर रहा है

महिला का दावा है कि परिवार वालों से इस बात का जिक्र करने के बाद उसे सामुदायिक स्वास्थ्य क्लिनिक ले जाया गया, जहां उसने अपने बच्चे को जन्म दिया। महिला ने कहा कि दोपहर की प्रार्थना के बाद मैं लेटी हुई थी और तभी मुझे अचानक लगा कि हवा का झोंका मेरी योनि में प्रवेश कर रहा है। इसके बाद सबकुछ घंटे भर में हो गया।

स्वास्थ्य विभाग के वरीय अधिकारी ने ये बताया-

महिला के इस विचित्र गर्भावस्था की खबर शहर में तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। इस घटना की जानकारी मिलते ही स्वास्थ्य विभाग के वरीय अधिकारी क्षेत्र के उप-प्रधान प्रमुख और जिला प्रमुख के साथ महिला के घर पहुंचे। स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा कि मां और बच्चे का स्वास्थ सही है और बच्चे के जन्म की प्रक्रिया सामान्य है। बच्चे का लिंग महिला है और उसका वजन 2.9 किलोग्राम है।

इस मामले में पुलिस कर रही है आगे की जांच

इस संबंध में स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा कि कई महिलाओं के साथ ऐसा होता है कि वह गर्भावस्था को तब तक नहीं महसूस कर पाती है, जब तक की उसे लेबर पेन (जनन से पहले का दर्द) नहीं होता है। ऐसे में हो सकता है कि इस महिला के साथ भी ऐसा ही हुआ हो। लेकिन, जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकता है। प्रेगनेंसी के इस मामले में बच्चे के जन्म के बाद पुलिस ने अपनी जांच शुरू कर दी है।

Advertisements