जब दर्शकों के बीच बैठ कर मंत्री संजय पाठक ने लिया रामलीला का आनंद

Advertisements

कटनी। भगवान श्री राम के आदर्श आज के आधुनिकता की ओर भागते युग में भी प्रासंगिक हैं। नमन है उन श्रद्धालुओं को जो आज इस हाईटेक युग में भी बड़ी संख्या में रामलीला मैदान पहुंचते हैं जमीन पर बैठ कर रामलीला का मंचन देखते हैं। यह विचार प्रदेश शासन के राज्यमंत्री संजय सतेन्द्र पाठक ने गोलबाजार रामलीला में अपने सम्मान के दौरान व्यक्त किये।

गोलबाजार में दर्शकों के बीच बैठ कर रामलीला देखते मंत्री श्री पाठक

श्री पाठक यहां श्रद्धालु जनों के बीच बैठकर रामलीला को देर तक देखा तथा मंचन से अभिभूत होते हुए कहा कि आज वर्षों बाद एक आम दर्शक की भांति रामलीला का श्रवण कर बेहद खुशी हुई।

इसे भी पढ़ें-  Nag Panchami 2021: नागपंचमी कब है? जानिए इस दिन क्यों की जाती है नागों की पूजा और शुभ मुहूर्त

कटनी में सवा सौ वर्षों से रामलीला के मंचन के साथ भगवान राम के आदर्शों को आत्मसात कराने का पुण्य कार्य करने के लिये कमेटी को नमन करते साधुवाद दिया।

इसके पूर्व गोलबाजार रामलीला कमेटी के द्वारा श्री पाठक का स्मृति चिन्ह भेंट कर स्वागत सम्मान किया गया। इस अवसर पर एमआईसी सदस्य मनीष पाठक का भी कमेटी की ओर से सम्मान किया गया। सम्मान के दौरान बड़ी संख्या में कमेटी के पदाधिकारी उपस्थित थे।

Advertisements