कुएं से ज्यादा गहरा निकला पति का प्रेम, पढ़‍िए मध्‍य प्रदेश के गुना जि‍ले की रोचक कहानी

बीनागंज। कुएं से ज्यादा गहरा निकला पति का प्रेम, पढ़‍िए मध्‍य प्रदेश के गुना जि‍ले की रोचक कहानी थे दशरथ मांझी। जिन्होंने 25 फीट ऊंचे पहाड़ को काट कर इसलिए रास्ता बना दिया, क्‍यों‍क‍ि उनकी पत्नी को समय पर दवाई नहीं मिल पाई थी और इस वजह से उनकी जान चली गई। एक हैं गुना जिले के भानपुरा बाबा गांव के भारत सिंह मेर। 39 साल की पत्नी आधा किमी दूर हैंडपंप पर पानी भरने जाती थी, यह उनसे देखा न गया इसलिए उन्होंने 46 साल की उम्र में घर पर ही 31 फीट गहरा कुआं खोद दिया। मेर के इस प्रेम को देखकर जिले के कलेक्टर ने भी उन्हें सलाम किया है।

दरअसल, चांचौड़ा जनपद के भानपुरा बाबा गांव में भारत सिंह मेर की पत्नी सुशीला बाई को घर से लगभग 500 मीटर दूर हैंडपंप से पानी भरना पड़ता था। हैंडपंप की अक्सर चेन टूट जाती थी, जिससे पत्नी बार-बार परेशान हो जाती थी और पानी लिए बिना ही उसे वापस लौटना पड़ता था। यह बात पति के मन में इतनी गहरी बैठी कि दो महीने पहले घर के बाहर कुआं खोदने की ठान ली।

भारत सिंह ने 15 दिन में 21 हाथ गहरा और साढ़े चार फीट चौड़ा कुआं खोद दिया। इतना ही नहीं, एक महीने में कुआं को पक्का कर आधा बीघा जमीन भी सिंचित कर ली। भारत सिंह का कहना है कि पिछले कई महीनों से पत्नी को परेशान होते देख रहा था। एक दिन पत्नी बहुत उदास हो गई, उसी दिन मैंंने ठान लिया कि अब पत्नी के लिए घर के बाहर ही कुंआ खोद दिया।

पहले दिन गेती-फावड़ा चलाया, तो पत्नी ने उड़ाया पति का मजाक

भारत सिंह ने बताया, ‘पहले दिन जब उसने घर के बाहर कुंआ खोदने के लिए गेती और फावड़ा चलाया, तो पत्नी सुशीला हंसकर मजाक उड़ाने लगी। पत्नी का कहना था कि वह कुआं नहीं खोद पाएगा, इसने मेरे निर्णय को और मजबूत कर दिया। जब पांच दिन के भीतर 12 हाथ का कुआं खोद दिया। भारत सिंह की पत्नी कहती हैं कि जीवन में पैसा ही सब कुछ नहीं है, ऐसा प्रेम करने वाला पति किस्मत वालों को ही मिलता है।

कलेक्टर ने कहा- सम्मान कर शासकीय योजनाओं का दिलाएंगे लाभ

जिले की यह पहली घटना है कि किसी पति ने अपनी पत्नी के प्रेम में कुआं खोदा है। कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने कहा कि भारत और उसकी पत्नी को पीएम आवास दिलाया जाएगा। साथ ही शासन की योजनाआंे का लाभ भी दिलाया जाएगा।