शर्तों पर बवाल के बाद WhatsApp की सफाई, निजी चैट नहीं होंगे प्रभावित

टेक डेस्क। आठ फरवरी 2021 से लागू होने जा रही WhatsApp के इस्तेमाल की शर्तों को लेकर बवाल बढ़ता ही जा रहा है। WhatsApp पर यह भी आरोप है कि अपनी कैटेगरी वह इकलौता ऐसा एप है जो यूजर्स से सबसे ज्यादा डाटा लेता है, लेकिन इसी बवाल और हंगामे के बीच WhatsApp ने कहा है कि वह उसकी नई सेवा शर्तों से निजी चैट रत्ती भर भी प्रभावित नहीं होंगे। WhatsApp ने ये बातें प्रेस रिलीज के जरिए कही है।

WhatsApp ने अपनी रिलीज में कहा है, ‘नए अपडेट से व्हाट्सएप के जरिए शॉपिंग और बिजनेस करना पहले के मुकाबले काफी आसान हो जाएगा। अधिकतर लोग आज व्हाट्सएप का इस्तेमाल चैटिंग के अलावा बिजनेस एप के तौर पर भी कर रहे हैं। हमने अपनी प्राइवेसी पॉलिसी को बिजनेस के लिए एक सुरक्षित होस्टिंग सर्विस के तौर पर अपडेट किया है ताकि छोटे कारोबारियों को व्हाट्सएप के जरिए अपने ग्राहकों तक पहुंचने में आसानी हो।

WhatsApp की नई पॉलिसी में क्या है?
इसी सप्ताह लाखों भारतीय यूजर्स को WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी और सेवा शर्तों को लेकर नोटिफिकेशन मिला है जो कि आठ फरवरी से लागू हो रही हैं। इन शर्तों में कहा गया है कि व्हाट्सएप पहले के मुकाबले अपनी पैरेंट कंपनी फेसबुक के साथ अधिक डाटा शेयर करेगा जिसका इस्तेमाल विज्ञापनों में होगा।

यदि आठ फरवरी तक कोई यूजर नई शर्तों को स्वीकार नहीं करता है तो उसके अकाउंट को बंद कर दिया जाएगा। एक्सपर्ट का कहना है कि यह सीधे तौर पर लोगों की निजता पर हमला है और उन्हें शर्तों को मानने के लिए मजबूर किया जा रहा है। बता दें कि एपल एप स्टोर पर लिस्टिंग के मुताबिक व्हाट्सएप अपने यूजर्स से 16 तरह का डाटा लेता है।