कटनी से महाराष्ट्र के सोलापुर गए मजदूरों को बनाया बंधक !

कटनी। दीपावली के बाद सोलापुर (महाराष्ट्र) गए 50 से अधिक मजदूरों को बंधक बनाकर प्रताड़ित किया जा रहा है। मजदूरों को दलाल गांव भी नहीं लौटने दे रहा। फोन पर स्वजन से बात करने पर भी मारपीट की जा रही है। मजदूरों में नाबालिग बच्चियां और उनके भाई-भाभी समेत कई रिश्तेदार भी हैं, जिन्हें जान से मारने की धमकी दी जा रही है। इससे गांव में रहने वाले स्वजन परेशान हैं।

गांव धनवानी, करियापाथर और सलैया के मजदूर

जानकारी के अनुसार कटनी जिले के स्लीमनाबाद थाना क्षेत्र के गांव धनवानी, करियापाथर और सलैया के मजदूर स्थानीय दलालों के चंगुल में फंसकर सोलापुर पहुंच गए। धनवानी निवासी नौनेलाल कोल (45) ने बताया कि दीपावली के पहले बहोरीबंद तहसील के कूड़न और भरदा के तीन-चार लोग गांव में आए थे।

अच्छी मजदूरी पर काम दिलाने का वादा क‍िया था

उन्होंने अच्छी मजदूरी पर काम दिलाने का वादा कर सोलापुर जाने के लिए कहा। इस पर नौनेलाल ने पत्नी ममता (35), पुत्र रूपलाल (22), पुत्री वंदना (17) को काम पर भेज दिया। इनके साथ छोटे भाई की बच्ची रज्जी (17), मनसा (20), बेटा दिप्पू (25), बहू रोशनी (22) और दिप्पू की सास मीरा (40) भी गन्नाा कटाई करने गए थे।

एक सप्ताह बाद 100 रुपये प्रतिदिन ही मजदूरी

पहले तो दलाल ने काम के अच्छे पैसे दिए, लेकिन एक सप्ताह बाद 100 रुपये प्रतिदिन ही मजदूरी देने लगा। इससे मजदूरों के खाने के लाले पड़ गए। मजदूरी कम करने पर मजदूरों ने गांव लौटने की बात कही तो दलाल ने उन्हें बंधक बना लिया और मारपीट करने लगा। दिनभर मजदूरी भी करा रहा है। यह सब जानकारी नौनेलाल को उनकी बच्चियों और पत्नी ने फोन पर दी।