EPFO खाताधारकों को सरकार का New Year गिफ्ट, 6 करोड़ लोगों के खाते में आज आ सकता है PF का पैसा, ऐसे करें चेक

नई दिल्ली। EPFO खाताधारकों को सरकार का New Year गिफ्ट, 6 करोड़ लोगों के खाते में आज आ सकता है PF का पैसा, ऐसे करें चेक। नए साल से पहले 6 करोड़ EPF खाताधरकों को सरकार ने अच्छी खबर दी है. देश के करोड़ों कर्मचारियों के लिए नया साल बड़ी सौगात लेकर आ सकता है. दरअसल, सरकार ने वित्त वर्ष 2019 2020 के लिए एम्प्लॉइज प्रॉविडेंट फंड (Employees Provident Fund) पर 8.5% का एक का एकमुश्त ब्याज देने का प्रस्ताव मान लिया है. मुमकिन है कि ब्याज की यह रकम गुरुवार यानी आज 31 दिसंबर 2020 तक कर्मचारियों के खाते में पहुंच जाए. सरकार के एक अधिकारी ने बताया कि वित्त मंत्रालय से ईपीएफओ (EPFO) को एकमुश्त 8.5% ब्याज देने की इजाजत मिल गई है. गौरतलब है कि इस प्रस्ताव पर इसी हफ्ते मुहर लगी थी.

  1. इस तरह चेक कर सकते हैं आप बैलेंस
    >> Epfindia.gov.in पर लॉग ऑन करें.
    >> अपने यूएएन नंबर, पासवर्ड और कैप्चा कोड में फीड करें.
    >> ई-पासबुक पर क्लिक करें.
    >> एक बार जब आप सभी विवरण दर्ज करते हैं, तो एक नया पेज खुल जाएगा.

अब ओपन मेंबर आई.डी. पर क्लिक करें.
अब आप अपने खाते में कुल ईपीएफ बैलेंस देख सकते हैं.

  1. UMANG App के माध्यम से EPF बैलेंस कैसे करें चेक

    UMANG ऐप खोलें
    EPFO पर क्लिक करें
    कर्मचारी केंद्र सेवा पर क्लिक करें
    पासबुक विकल्प पर क्लिक करें
    अपने यूएएन नंबर और पासवर्ड में फीड करें
    आपको अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर पर ओटीपी मिलेगा
    अब आप अपना ईपीएफ बैलेंस चेक कर सकते हैं.

  2. SMS से पता करें बैलेंस
    अगर आपका यूएएन नंबर ईपीएफओ के पास रजिस्टर्ड है तो आपके पीएफ के बैलेंस की जानकारी मैसेज के जरिए मिल जाएगी. इसके लिए आपको 7738299899 पर EPFOHO UAN ENG (आखरी तीन अक्षर भाषा के लिए है) लिखकर भेजना होगा. आपके पीएफ की जानकारी मैसेज के जरिए मिल जाएगी. पीएफ बैलेंस के लिए जरूरी है कि आपका यूएएन, बैंक एकाउंट, पैन (PAN) और आधार (AADHAR) से लिंक्ड हो.

  3. मिस्ड कॉल के जरिए जानें बैलेंस
    अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से 011-22901406 पर मिस्ड कॉल दें. इसके बाद ईपीएफओ के संदेश के जरिए पीएफ की डिटेल मिल जाएगी. यहां भी आपका यूएएन, पैन और आधार लिंक होना जरूरी ही.

पीएफ अकाउंट से कितना पैसा निकाल सकते हैं
पीएफ अकाउंट से पूर्ण निकासी केवल दो ही स्थितियों में हो सकती है. रिटायरमेंट के बाद या फिर कर्मचारी के दो महीने से अधिक बेरोजगार रहने पर. ईपीएफ सदस्य के एक महीने तक बेरोजगार रहने पर पेंशन फंड से अपनी कुल पीएफ राशि के 75 फीसद हिस्से की निकासी की जा सकती है.