सतना में थाने में पुलिस की पिटाई से आरोपित की हालत गंभीर

Advertisements

सतना। छेड़छाड़ की शिकायत के बाद थाने लाए गए आरोपित की थाने में हालात गंभीर होने के बाद उसे इलाज के लिए जबलपुर रेफर किया गया है। इस मामले में आरोपित के स्वजनों ने जमकर हंगामा किया। यह घटना बीती देर रात की है जिसके बाद आरोपित के स्वजन पुलिस पर बुरी तरह मारपीट का आरोप लगा रहे हैं। वहीं पुलिस इस मामले में बचाव करते हुए मारपीट से इंकार कर रही है।

सीएम हेल्पलाइन में छेड़छाड़ की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए कोलगवां पुलिस कामता टोला निवासी 24 वर्षीय युवक सुधीर दाहिया उर्फ छोटू को थाने लाई थी। पुलिस का कहना है कि पूछताछ के दौरान सुधीर को चक्कर आया और वह गिर पड़ा। इसके बाद उसे स्थानीय अस्पताल ले जाया गया जहां से उसे जबलपुर रेफर किया गया है। आरोपित के स्वजनों ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि पुलिस ने उसके साथ बेरहमी से मारपीट की है।

इसे भी पढ़ें-  कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए सरकार की नई गाइडलाइंस, होम आइसोलेशन से लेकर दवा तक, जानें सबकुछ

सिर में चोट से पीड़ित है आरोपित : स्वजनों का कहना है कि सुधीर पूर्व से ही हेड इंजरी (सर में चोट) से पीड़ित है। उसे पुलिस द्वारा सीने में लात मारी गई जिससे उसे चक्कर आया जिससे उसकी स्थिति गंभीर हो गई है। इसके पूर्व थाने में पुलिस द्वारा शिकायतकर्ता महिला को भी बुला लिया गया था जिसने सुधीर पर आए दिन छेड़छाड़ करने का आरोप लगाते हुए सीएम हेल्पलाइन में शिकायत दर्ज कराई थी। स्थिति बिगड़ने पर रात को ही थाने में वरिष्ठ अधिकारी पहुंच गए और मामले को संज्ञान में लिया। इसके पूर्व 27 सितंबर को भी जिले के सिंहपुर थाने में एक आरोपित की पुलिस की रिवाल्वर से गोली लगने से मौत हो गई थी जिसके बाद पूरे प्रदेश में पुलिस कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े किए जाने लगे थे। इस मामले में थाना प्रभारी और आरक्षक अब तक फरार चल रहे हैं।

इसे भी पढ़ें-  मई और जून के दौरान 80 करोड़ लाभार्थियों को मिलेगा मुफ्त अनाज, योजना को सरकार की मंजूरी

 

पुलिस अधिकारी कर रहे जांच : इस मामले में एएसपी ने कहा कि पुलिस द्वारा मारपीट का आरोप बेबुनियाद है। इस मामले में वरिष्ठ अधिकारी द्वारा मारपीट की घटना की जांच की जा रही है। आरोपित की स्थिति अभी बेहतर है। छेड़छाड़ की जांच और पूछताछ के लिए आरोपित को थाने लाया गया था। इसकी भी जांच की जा रही है।

Advertisements