नीतीश कुमार का बड़ा बयान, कहा- मुझे नहीं रहना सीएम, एनडीए जिसे चाहे बना दे

Advertisements

पटना। बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने जदयू के राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद बड़ा बयान दिया है। उन्‍होंने आज ( 27 दिसंबर) को जदयू की राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में कहा है कि मुझे अब नहीं रहना सीएम। एनडीए गठबंधन जिसे चाहे बना दें सीएम। बीजेपी का ही सीएम हो । मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। मुझे किसी पद का मोह नहीं है। नीतीश कुमार के इस बयान ने बिहार की राजनीति में हलचल मचा दी है।

नीतीश कुमार ने बैठक को संबोधित करने हुए कहा कि बिहार विधान सभा चुनाव के बाद मैंने अपनी इच्‍छा व्‍यक्‍त कर दी थी। मुझे सीएम बनने की इच्‍छा नहीं थी। लेकिन मुझपर काम करने के लिए दबाव था।

इसे भी पढ़ें-  Transfer in Madhya Pradesh: उपचुनाव के बाद दमोह कलेक्टर तरुण राठी और एसपी चौहान को हटाया

जदयू ने कहा, बीजेपी ने अच्‍छा नहीं किया

बता दें कि पटना में जदयू की दो दिवसीय राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हुई। आज बैठक का दूसरा और अंतिम दिन था। इसके बाद जदयू के प्रधान महासचिव केसी त्‍यागी ने आज रविवार को एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर कहा कि जदयू ने अरूणाचल प्रदेश की घटना पर क्षोभ व्‍यक्‍त किया है। जदयू के छह विधायकों को भाजपा ने मंत्रिमंडल में शामिल करने की बजाय उन्‍हें अपने दल में ही शामिल कर लिया है। यह अच्‍छा नहीं किया । हमें इसपर बेहद दुख है। यह गठबंधन की राजनीति के लिए अच्‍छा संकेत नहीं है।

इसे भी पढ़ें-  बागपत : ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे पर बड़ा हादसा, बेकाबू होकर पलटा पीएसी का ट्रक, 30 जवान घायल

माना जा रहा है कि नीतीश कुमार अरूणाचल प्रदेश की घटना से बेहद दुखी हैं। उनका यह ताजा बयान इसी घटना से जोड़कर देखा जा रहा है।

Advertisements