हैरतंगेज: 7 साल का नन्हा पायलट उड़ा लेता है विमान

नई दिल्ली। 7 Year Old Uganda boy: युगांडा (Uganda)का एक सात साल का लड़का (Seven Year Old Uganda boy)इन दिनों पूरी दुनिया में सनसनी बना हुआ है। यह 7 साल का नन्हा बच्चा एक पायलट है। जो यात्री विमान उड़ाता है। इस नन्हे कैप्टन ने तीन बार सेसना यात्री विमान को उड़ाया है। इस नन्हे कैप्टन का नाम ग्राहम शेमा (Captain Graham Shema) है। इतनी कम उम्र में विमान उड़ाने के चलते लोग आश्चर्य में हैं। बच्चे की तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया में तेजी से वायरल (viral news)हो रहे हैं। कैप्टन ग्राहम शेमा की इस अद्भुत उपलब्धि के लिए उन्हें जर्मनी के राजदूत और युगांडा के परिवहन मंत्री द्वारा आमंत्रित भी किया जा चुका है।

एलन मास्क को अपना आइडियल मानने वाले कैप्टन ग्राहम शेमा तीन बार पहले ही ट्रेनी के रूप में सेसना 172 विमान उड़ा चुके हैं। ग्राहम शेमाका सपना एक पायलट और एक आस्‍ट्रोनॉट बनने का है। नन्हें पायलट ग्राहम मैथ और साइंस के दीवाने हैं। ग्राहम का सपना एक दिन मंगल ग्रह पर जाने का है। उन्‍होंने कहा, ‘मैं एलन मस्‍क को पसंद करता हूं क्‍योंकि मैं उनसे अंतर‍िक्ष के बारे में सीखना चाहता हूं और उनके साथ हाथ मिलाना चाहता हूं। उसके साथ अंतरिक्ष में जाना चाहता हूं और हैंडसम भी होना चाहता हूं।

इस घटना ने पायलट बनने के लिए किया प्रेरित

सात साल के ग्राहम को विमान से जुड़ी हर जानकारी के बारे में मालूम है। ग्राहम का कहना है कि उन्हें पायलट बनने की चाहत तब जागी जब पुलिस के हेलीकॉप्टर ने उड़ान भरने के दौरान उनकी दादी के घर की छत को उड़ा दिया था।यह घटना उगांडा की राजधानी कंपाला के एक बाहरी इलाके में हुई थी। जब घटना घटी तब ग्राहम बाहर खेल रहा था। ग्राहम की मां ने बताया कि इस एक घटना के बाद से ही ग्राहम ने यह जानना शुरू कर दिया कि प्‍लेन कैसे काम करता है।

विमान से जुड़ी हर जानकारी है ग्राहम के पास

कैप्टन ग्राहम शेमा की मां ने पिछले साल एक स्थानीय एविएशन एकेडमी से संपर्क किया, जहां कैप्टन ने एविएशन की पढ़ाई शुरू की। एविएशन एकेडमी में पढ़ाई और लगातार एविशन व स्पेस से जुड़ी वीडियो को देखने की वजह से सिर्फ 7 साल की उम्र में ग्राहम शेमा को विमान की इतनी गहरी जानकारी हासिल हो गई। युगांडा के एंटेबे अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर एक बार 7 साल के ‘कैप्टन’ ग्राहम शेमा से उनके प्रशिक्षक ने पूछा कि बॉम्बार्डियर CRJ9000 का इंजन कैसे काम करता है।

सह-पायलट के रूप में तीन बार भर चुका है उड़ान

नन्हें कैप्टन ने उन्हें विस्तार से इसकी पूरी जानकारी दी। उनकी जानकारी देख वहां पर मौजूद हर कोई हैरान रह गया। शमा ने अपनी पहली उड़ान के बारे में कहा, मुझे ऐसा लगा रहा था कि जैसे कोई चिड़िया उड़ रही हो। वह पहले कभी किसी विमान पर नहीं चढ़ा था।उसने जनवरी से मार्च के बीच सह-पायलट के रूप में तीन बार उड़ान भरी थी। लेकिन कोरोना महामारी के चलते वे अभ्यास नहीं कर सके हैं।