निकाय चुनाव के लिए कांग्रेस की मांग, इवीएम संग वीवीपैट भी जोड़ा जाए

Advertisements

मध्य प्रदेश में होने वाले नगरीय निकाय चुनाव इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन से कराए जाएंगे। इसको लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने अधिसूचना जारी कर दी है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने राज्य निर्वाचन आयुक्त बीपी सिंह से मांग की है कि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन के साथ वीवीपैट (वोटर वेयरीफायवल पेपर ऑडिट ट्रेल) मशीन जोड़ी जाए ताकि मतदान की निष्पक्षता बरकरार रह सके। वीवीपैट के माध्यम से मतदाता यह जान सकता है कि उसने जिस उम्मीदवार के पक्ष में मतदान किया है उसका मत उसे ही मिला है या नहीं। विधानसभा और लोकसभा चुनाव में इसी पद्धति से चुनाव कराए जाते हैं।

इसे भी पढ़ें-  Coronavirus MP News: वेंटिलेटरयुक्त एंबुलेंस का किराया 25 रुपये प्रति किलोमीटर तय

प्रदेश कांग्रेस के चुनाव कार्य प्रभारी जेपी धनोपिया ने बताया कि 14 जनवरी 2020 को कांग्रेस ने राज्य निर्वाचन आयोग को ज्ञापन देकर मत पत्र के माध्यम से मतदान कराने की मांग की थी। चुनाव आयोग ने 21 दिसंबर को अधिसूचना जारी की है जिसमें यह बताया गया है कि नगरीय निकाय चुनाव में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन से मतदान कराया जाएगा।

 

हालांकि, इसमें वीवीपैट मशीन को संलग्न करने संबंधी कोई निर्देश नहीं है। जबकि, भारत निर्वाचन आयोग इसी पद्धति से चुनाव कराता है। इसके पीछे मुख्य मकसद यह है कि मतदाता को यह पता रहे कि उसने जिसे मत दिया है वास्तव में उसे वह मिला है या नहीं। पार्टी ने आयोग से मांग की है कि निकाय चुनाव में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन के साथ वीवीपैट मशीन को अनिवार्य रूप से संलग्न किया जाए

Advertisements