मध्‍य प्रदेश कांग्रेस के लिए अनुशासन समिति का गठन, ये संभालेंगे जिम्मेदारी

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की ओर से मध्य प्रदेश कांग्रेस के लिए अनुशासन समिति का गठन किया गया है। समिति में चेयरमैन भारत सिंह और वाइस चेयरमैन सीपी शेखर को बनाया गया है। समिति के सदस्य विनय दुबे, नन्हेलाल ध्रुव, अजिता वाजपेयी पांडे, बाबूलाल सोलंकी, सैयद साजिद अली और रामेश्वर पटेल रहेंगे। यह समिति पार्टी विरोधी गतिविधियों के मामलों की सुनवाई करेगी।

कृषि कानूनों के खिलाफ कांग्रेस 28 दिसंबर को घेरेगी विधानसभा, ट्रैक्टर से आएंगे किसान

तीनों नए कृषि कानूनों के खिलाफ मध्य प्रदेश कांग्रेस भी अब मैदान में उतरेगी। 28 दिसंबर को विधानसभा का घेराव किया जाएगा। इसके लिए भोपाल, सीहोर, होशंगाबाद, रायसेन, विदिशा सहित अन्य जिलों से किसान ट्रैक्टर-ट्राली में भोपाल पहुंचेंगे। प्रदेश कांग्रेस कार्यालय से पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ की अगुआई में किसान विधानसभा की ओर बढ़ेंगे। आंदोलन की तैयारी का जिम्मा पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव के साथ पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा और जीतू पटवारी को सौंपा गया है।

कांग्रेस के स्थापना दिवस पर पार्टी ने तय किया है कि किसानों के समर्थन और कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन किया जाएगा। किसान ट्रैक्टर-ट्राली लेकर भोपाल आएंगे और प्रदेश कांग्रेस कार्यालय से विधानसभा घेराव के लिए आगे बढ़ेंगे। पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ भी ट्रैक्टर पर सवार होकर ही घेराव के लिए आगे बढ़ेंगे।

घेराव की तैयारियों में जुटे पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव ने बताया कि केंद्र सरकार ने किसानों के साथ धोखा किया है। तीनों कानून किसानों को तबाह करने वाले हैं। इनमें कोई खराबी नहीं है तो फिर सरकार को न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) का प्रविधान जोड़ने में क्या समस्या है। केंद्र सरकार किसानों को व्यापारियों के हाथों की कठपुतली बनाना चाहती है। यही वजह है कि किसान तीनों कानूनों के खिलाफ सड़क पर उतर आए हैं। प्रदेश में भाजपा इन कानूनों को लेकर सम्मेलनों के जरिये जो भ्रम फैला रही है, उसे विधानसभा के घेराव के जरिये दूर किया जाएगा। इस आंदोलन में पार्टी के सभी विधायक और बड़े नेता हिस्सा लंेगे।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने बताया कि किसान विरोधी कानूनों को लेकर केंद्र सरकार हठधर्मिता पर उतर आई है। मध्य प्रदेश सरकार भी इनका समर्थन कर रही है। कांग्रेस किसानों के समर्थन में है और इस आंदोलन से वास्तविकता सामने लाएगी।