शीतलहर से कांपा जबलपुर, 6 डिग्री नीचे आया पारा

Advertisements

जबलपुर, आशीष शुक्ला। आसमान साफ होने के बाद पिछले दो दिन से चल रही शीतलहर ने शहर को ठिठुराकर रख दिया है।

पारा भी 6 डिग्री नीचे गिरकर 8.3 पर पहुंच गया है। अगले एक-दो दिन में तापमान के और नीचे जाने की संभावना है क्योंकि ठंडक से घुली उत्तरी हवाओं की रफ्तार करीब 4 किलोमीटर प्रतिघंटे है।उत्तर भारत में हुई भारी बर्फबारी के कारण जबलपुर में शीतलहर चलने लगी है। पश्चिमी विक्षोभ के कारण दिन और रात का तापमान घट गया है और हड्डी गलाने वाली ठंड का सामना करना पड़ रहा है। जिले में आज का अधिकतम तापमान 22.9 और न्यूनतम तापमान 8.3 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया।

पिछले कुछ दिनों से आसमान पर छाये बादलों के हटने के बाद एकाएक बढ़ी ठंड ने आम जनमानस की परेशानी में इजाफा कर दिया है।

गायब हो गए अलाव

नगर निगम प्रशासन पिछले कई सालों से बस स्टैंड और रेलवे स्टेशन समेत रिक्सा स्टैंड व जरूरत की जगहों पर अलाव की लकड़ियों का वितरण करने लगता था। मगर इस बार कहीं भी अलाव का इंतजाम नहीं किये जाने से लोगों में निराशा देखी जा रही है उल्लेखनीय है कि विगत रात्रि 8 डिग्री सेल्सियस तक पारा उतरने की वजह से ठंड का असर भी तेज रहा।

बीमार और बुजुर्गों को दिक्कत
पारा गिरने के कारण बीमार और बुजुर्गों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। चिकित्सकों ने भी इन्हें विशेष देखरेख में रखने की सलाह दी है, क्योंकि ठंड के कारण सबसे ज्यादा इन्हीं लोगों पर असर होता है। सुबह-सुबह ठंड का असर ज्यादा रहने के कारण लोगों ने टहलना भी बंद कर दिया है

फिर आएंगे बादल

मौसम विभाग ने चेतावनी जारी की है कि अगले एक-दो दिन में पारा और नीचे गिरेगा, क्योंकि उत्तरी हवाएं अपना असर दिखा रही हैं। वहीं उसके बाद एक बार फिर शहर के आसमान पर बादलों का डेरा हो सकता है क्योंकि पश्चिमी विक्षोभ फिर से अपना असर दिखा रहा है। चार किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से चल रहीं उत्तरी हवाएं, ठंड से बचने लोगों ने आग व गर्म कपड़ों का लिया सहारा

तापमान

अधिकतम – 22.9

न्यूनतम – 8.3

सूर्योदय – 6:46

सूर्यास्त – 5: 29

Advertisements