प्रदेश में पहला प्रयोग: बड़गांव जन शिक्षा केंद्र के 36 स्कूल हुए ऑनलाइन, सेंटर से बैठकर पढ़ाई कराएंगे शिक्षक

Advertisements

कटनी। जिले के अधिकांश स्कूलों में शिक्षकों की कमी के चलते बच्चों की पढ़ाई प्रभावित होती रही है लेकिन कटनी जिले के बड़गांव जन शिक्षा केंद्र के 36 स्कूलों में अब शिक्षकों की कमी स्मार्ट टीवी और मोबाइल फोन के जरिए दूर होगी। जन शिक्षा केंद्र ने नवाचार करते हुए 26 प्राथमिक और 10 मिडिल स्कूलों को स्मार्ट टीवी और मोबाइल फोन के जरिए संकुल केंद्र से जोड़ा है। जन शिक्षा केंद्र में कंट्रोल रूम बनाया गया है और जिस किसी भी स्कूल में शिक्षक कम होंगे वहां के छात्रों को स्मार्ट टीवी के जरिए संकुल केंद्र में ही बैठकर अब दूसरे शिक्षक विषय से संबंधित जानकारी दे पाएंगे।प्राइमरी व मिडिल स्कूल में इस तरह का नवाचार प्रदेश का पहला नवाचार है। 36 स्कूलों को स्मार्ट करने के साथ ही अब वर्चुअल मीटिंग और छात्रों व शिक्षकों की समस्याओं को एक ही स्थान पर बैठकर प्रभारी, अधिकारी निराकृत करेंगे। जन शिक्षक को स्मार्ट करने का शुभारंभ गुरुवार को समारोह पूर्वक किया गया। जिसमें क्षेत्रीय विधायक प्रणय पांडे, डीईओ बीबी दुबे, डीपीसी केके डेहरिया, सीईओ जनपद प्रदीप सिंह सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। स्मार्ट जन शिक्षा केंद्र का शुभारंभ करने के साथ ही अधिकारियों व विधायक ने खुद मौके पर बैठकर संकुल केंद्र के अलग-अलग स्कूलों में शिक्षकों व छात्रों से बात की और प्रदेश के इस पहले स्मार्ट जन शिक्षा केंद्र के नवाचार की सराहना भी की।

इसे भी पढ़ें-  Coronavirus MP News: वेंटिलेटरयुक्त एंबुलेंस का किराया 25 रुपये प्रति किलोमीटर तय

छात्रों की पढ़ाई बनाए परेशानी इसलिए किया नवाचार
बड़गांव जन शिक्षा केंद्र के जन शिक्षक विपिन तिवारी ने बताया कि बीआरसी विनीत गौतम, संकुल केंद्र प्रभारी अनूप सिंह के साथ बैठकर संकुल केंद्र के सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की कमी या शिक्षकों के किसी कारण से ना आने पर छात्रों की पढ़ाई प्रभावित होने की बात सामने आने पर नवाचार करने का प्रयास किया गया। इसके लिए सभी 36 स्कूलों में विभिन्न मदों से स्मार्ट टीवी खरीदे गए हैं, जिन्हें मोबाइल के जरिए फिलहाल कनेक्टिविटी देकर आपस में जन शिक्षा केंद्र से जोड़ा गया है। वहीं से बैठ कर दूसरे शिक्षक स्कूलों में शिक्षकों की कमी होने पर सीधा उनका मार्गदर्शन कर पाएंगे और इससे अब छात्रों की पढ़ाई अब नहीं होगी।

इसे भी पढ़ें-  भाजपा सांसद की PM मोदी से मांग- PMO के भरोसे बैठना बेकार, नितिन गडकरी को सौंप दें कोरोना से जंग की कमान

राज्य स्तर पर भेजा जाएगा प्रोजेक्ट
बड़ागांव जन शिक्षा केंद्र की इस स्मार्ट प्रोजेक्ट की तारीफ़ जिले के अधिकारियों ने की और प्रदेश के पहले तरह के नवाचार को लेकर उन्होंने इस प्रोजेक्ट को राज्य स्तर पर भेजने की बात भी कही है। इसके अलावा जिले में भी इसे एक पायलट प्रोजेक्ट की तरह प्रेषित करते हुए अन्य शिक्षा केंद्रों में भी इसी नवाचार को लागू कराया जाएगा ताकि शिक्षकों की कमी के बाद भी पढ़ाई प्रभावित ना हो। इतना ही नहीं संकुल केंद्र से बैठकर ही शिक्षकों की बैठक भी ली जाएगी ताकि संकुल में होने वाली बैठक के दौरान शिक्षकों के स्कूलों से आने जाने का समय बचे और वह समय छात्रों की पढ़ाई में काम आ सके।

इसे भी पढ़ें-  बंगाल: ममता बनर्जी आज तीसरी बार लेंगी मुख्यमंत्री पद की शपथ , जानें टाइमिंग से लेकर गेस्ट की लिस्ट

इस दौरान टीआई रोहित यादव, राकेश जैन, अजय सोनी, राममिलन पटेल,कीर्ति दीवान, अनिता श्रीवास्तव, राजेन्द दोहिया, एपीसी एनपी दुबे, अजित सिंह, रोहित हल्दकार, मिल्लू चक्रवर्ती, सोने लाल, महंत सिंह परिहार, तरुवर सिंह, भरत पटेल, महेंद्र पटेल, रमेश पटेल सहित अन्य जन मौजूद थे।

Advertisements