इंटरसिटी एक्सप्रेस के लोको पायलट की सूझबूझ से टला बड़ा हादसा

Advertisements

Indore News। डॉ.अम्बेडकर नगर-भोपाल इंटरसिटी एक्सप्रेस के लोको पायलट की सूझबूझ से एक बड़ा हादसा टल गया। लोको पायलट ने ट्रैक पर पड़े एक वाहन को देख ट्रेन को रोक दिया लेकिन फिर भी ट्रेन वाहन को कुछ दूर तक घसीटकर ले गई।

जिसमें कोई जनहानि तो नहीं हुई लेकिन वाहन का अगला हिस्सा चकनाचूर हो गया। रेलवे से प्राप्त जानकारी के अनुसार यह घटना 11 दिसंबर की है, जब भोपाल से चलकर डॉ. अम्बेडकर नगर के लिए निकली इंटरसिटी एक्सप्रेस करीब 9.20 बजे लक्ष्मीबाई नगर स्टेशन पहुंची थी।

प्लेटफॉर्म क्रमांक एक से 100 मीटर की दूरी पर लोको पायलट को ट्रैक पर एक सफेद रंग का लोडिंग वाहन दिखा। लोको पायलट ने इमरजेंसी ब्रेक लगाते हुए ट्रेन को रोका लेकिन तब तक ट्रेन बोलेरो वाहन क्रमांक एमपी-09-सीजी-3812 को करीब 166 मीटर दूरी तक घसीटते हुए ले गई। जिससे लोडिंग वाहन का अगला हिस्सा चकनाचूर हो गया। घटना की सूचना रेलवे अधिकारियों को दी गई।

इसे भी पढ़ें-  कोरोना की दूसरी लहर ने बरपाया कहर, भारत में टूट गए सारे रिकॉर्ड, एक दिन में 4.12 लाख नए केस, 4 हजार मौतें

रेलवे अधिकारी मौके पर पहुंचे और पूरा मामला समझा। अधिकारियों ने कर्मचारियों की मदद से रेलवे ट्रैक को खाली किया। जिस कारण इंटरसिटी एक्सप्रेस करीब डेढ़ घंटा देरी से इंदौर के लिए रवाना हुई। मामले की सूचना रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) को दी गई। आरपीएफ ने रेल सीमा में अनाधिकृत रूप से प्रवेश करने और जानबूझकर रेल यात्रियों की सुरक्षा में संकट पैदा करने और रेल यातायात को बाधित करने की धारा में अज्ञात वाहन चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

Advertisements