महापौर अध्यक्ष आरक्षण, जबलपुर अनारक्षित, कटनी सामान्य महिला, देखें ताजा अपडेट

Advertisements

महापौर निगम अध्यक्ष का आरक्षण भोपाल में हो गया है।  कटनी सामान्य महिला

मुरैना अनुसूचित जाति महिला होगा

16 नगर निगम महापौर :

# अनुसूचित जाति : मुरेना और उज्जैन । (मुरेना महिला वर्ग के लिए आरक्षित । )

# अनुसूचित जन जाति : छिन्दवाडा आरक्षित ( मुक्त)

# OBC : भोपाल और खंडवा ,(महिला के लिए आरक्षित ). सतना और रतलाम ( मुक्त)

# General : सागर ,बूरहानपुर ,देवास और कटनी और ग़्वालियर …सामान्य महिला आरक्षित …

# General : जबलपुर ,इंदौर ,रीवा और सिंगरोली ..( अनाराक्षित)

 

भोपाल और खंडवा में अगली महापौर ओबीसी महिला होगी, जबकि ग्वालियर, देवास, बुरहानपुर, सागर और कटनी में सामान्य महिला महापौर बनेंगी। इंदौर, जबलपुर, रीवा और सिंगरौली महापौर का पद अनारक्षित हो गया है।

भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर सहित प्रदेश के 16 नगर निगमों के महापौर के लिए आरक्षण की प्रक्रिया रवींद्र भवन में नगरीय प्रशासन एवं विकास आयुक्त की मौजूदगी में शुरू हो गई है। इस दौरान 99 नगर पालिका व 292 नगर परिषदों के अध्यक्ष के लिए भी आरक्षण की प्रक्रिया भी सम्पन्न होगी, जिसमें राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को आमंत्रित किया गया है।

इसे भी पढ़ें-  Phizer: दवा कंपनी फाइजर को बड़ी सफलता, कनाडा ने दी बच्चों को वैक्सीन लगाने की अनुमति

अजा-जजा के लिए आबादी के अनुसार होता है आरक्षण

दरअसल, बुधवार को सुबह 11 बजे रवींद्र भवन में प्रदेश के नगरीय निकायों में महापौर व अध्यक्ष पदों के आरक्षण की प्रक्रिया शुरू हो गई है। मध्य प्रदेश में 407 नगरीय निकायों में महापौर व अध्यक्ष पद के लिए आरक्षण होना है। इनमें 16 नगर निगम, 99 नगर पालिका और 292 नगर परिषद हैं। नगरीय निकाय चुनावों को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने भी अपनी तैयारी पूरी कर ली है। लिहाजा जल्द ही निकाय चुनावों के लिए तारीख का ऐलान होगा। यह चुनाव भी एक जनवरी 2020 की मतदाता सूची के आधार पर ही कराए जाएंगे, ताकि तीन माह के अंदर ही चुनाव संबंधित सभी तैयारियां पूरी की जा सकें। इस संदर्भ में नगरीय प्रशासन एवं विकास आयुक्त निकुंज श्रीवास्तव ने सूचना भी जारी की है। इसमें बताया गया है कि महापौर तथा अध्यक्ष के पद का आरक्षण नियम 1999 के अंतर्गत कार्रवाई की जाएगी

Advertisements