School Bag Policy: प्री-प्राइमरी में बस्ता नहीं, पहली कक्षा में 3 किताबें, बस्ते का वजन 2.2 KG से ज्यादा नहीं

School Bag Policy: केंद्र सरकार ने स्कूल बैग पॉलिसी तैयार की है। इसके तहत बताया गया है कि किस कक्षा के बच्चों के बैग का वजन कितना होगा। बैग का वजन तय करने में बच्चे के वजन का भी ध्यान रखा गया है। मसलन पहली कक्षा में पढ़ने वाले बच्चों के बस्ते का वजन औसत 1.6 से 2.2 किलोग्राम तय किया गया है। स्कूली बच्चों के बस्ते का वजन उनके वजन के 10 फीसद से ज्यादा नहीं होगा। वहीं 12वीं में पढ़ने वाले छात्रों के बस्ते का वजन अब 3.30 से 5 किलो के बीच हो सकता है। इस तरह से सरकार ने स्कूली बच्चों के बच्चों के वजन की बहस को खत्म कर दिया है। अब हर किताब पर उसका वजन छापा जाएगा, ताकि बस्ते का वजन न बढ़े। सबसे अच्छी बात यह है कि प्री प्राइमरी में पढ़ने वाले बच्चों के लिए कोई बैग नहीं होगा। यह व्यवस्था नए शिक्षा सत्र से लागू हो जाेगी।

स्कूलों में किया जाएगा बस्ते का वजन: सरकार ने निर्देश दिया है कि स्कूलों में वजन तोलने की मशीन रखी जाए और रोज बच्चों के बस्तों का वजन किया जाएगा। पहली कक्षा के लिए कुल 3 किताबें रखी गई हैं जिनका वजन 1078 ग्राम होगा वहीं 12वीं के बच्चों के लिए कुल 6 किताबें होंगी जिनका वजन 4 किलो 182 ग्राम होगा।

बस्तों का वजन तय करने के लिए बीते दिनों से शिक्षा मंत्रालय में मंथन चल रहा था। एक उच्च स्तरीय समिति भी गठित की गई थी। अब सर्वे के बाद कमेटी ने इसे अंतिम रूप दिया है। बता दें बच्चों के बच्चों के वजन को लेकर देश की विभिन्न अदालतों में केस दायर हो चुके हैं और अलग-अलग समय पर अलग-अलग अदालतों ने अलग-अलग आदेश दिए हैं।

किताबों का वजन 500 ग्राम से 3.5 किलोग्राम

कॉपियों का वजन 200 ग्राम से 2.5 किलोग्राम

लंच बाक्स का वजन 200 ग्राम से 1 किलोग्राम

पानी की बोतल का वजन 200 ग्राम से 1 किलोग्राम के बीच रहेगा

किस कक्षा के लिए कितने वजन का बस्ता

कक्षा 1-2: 16-22 किलो छात्र का वजन, 1.6-2.2 किलो बस्ते का वजन

कक्षा 3-5: 17-25 किलो छात्र का वजन, 1.7-2.5 किलो बस्ते का वजन

कक्षा 6-7: 20-30 किलो छात्र का वजन, 2.0-3.0 किलो बस्ते का वजन

कक्षा 8: 25-40 किलो छात्र का वजन, 2.5-4.0 किलो बस्ते का वजन

कक्षा 9-10: 25-45 किलो छात्र का वजन, 2.5-4.5 किलो बस्ते का वजन

कक्षा 11-12: 35-50 किलो छात्र का वजन, 3.5-5.0 किलो बस्ते का वजन