जबलपुर में बड़ी कार्रवाई: जुर्माना जमा नहीं करने पर खाद्य पदार्थों में मिलावट की दोषी चार दुकानें सील

Advertisements

जबलपुर,आशीष शुक्ला। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मंशा के अनुरूप खाद्य पदार्थों में मिलावट रोकने चलाये जा रहे। मिलावट से मुक्ति अभियान के तहत आज मंगलवार को जिले में बड़ी कार्यवाही कर चार दुकानों को प्रशासन द्वारा सील कर दिया गया है। सील की गई चारों दुकानों से लिये गये खाद्य पदार्थों के सेम्पल अमानक पाये गये थे। इस वजह से इन पर जुर्माना अधिरोपित किया गया था। जिसे दुकान संचालकों द्वारा अभी तक जमा नहीं किया गया था।

कलेक्टर कर्मवीर शर्मा के निर्देशन में चलाये जा रहे मिलावट से मुक्ति अभियान के तहत आज सील की गई चार दुकानों में होमसाइंस कॉलेज रोड स्थित पापुलर फ्रेश मोमोज, नेपियर टाउन स्थित पवन इंटर प्राइजेज, महानद्दा स्थित बीकानेर स्वीट्स एवं कांचघर स्थित प्रेम आहूजा का प्रतिष्ठान शामिल है। पापुलर फ्रेश मोमोज पर अमानक पनीर, बीकानेर स्वीट्स पर मिथ्याछाप चकली एवं बिस्किट, पवन इंटरप्राइजेज को अमानक धनिया एवं मिर्च तथा प्रेम आहूजा के प्रतिष्ठान पर मिथ्याछाप चायपत्ती का विक्रय करने पर जुर्माना अधिरोपित किया गया था।

इसे भी पढ़ें-  कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए सरकार की नई गाइडलाइंस, होम आइसोलेशन से लेकर दवा तक, जानें सबकुछ

इन चार दुकानों को मिलाकर जबलपुर में मिलावट से मुक्ति अभियान के तहत पिछले एक माह के दौरान आठ दुकानें सील की जा चुकी हैं।

इसके अलावा मिलावटी एवं मिथ्याछाप खाद्य पदार्थों का विक्रय करने वाले चार प्रतिष्ठानों पर कल सोमवार को की गई एफआईआर सहित अभियान के तहत 9 दुकानों पर एफआईआर भी दर्ज कराई जा चुकी है।

कल सोमवार को जिन प्रतिष्ठानों पर एफआईआर दर्ज कराई गई थी उनमें पापुलर फ्रेस मोमस होम साइंस रोड के संचालक सह विक्रेता विजय थारवानी के प्रतिष्ठान में निरीक्षण के दौरान पनीर का नमूना अमानक पर मदनमहल पुलिस थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई गई।

वहीं पवन इंटर प्राइजेस नेपियर टाउन के संचालक एवं विक्रेता बृजमोहन चौकसे के प्रतिष्ठिान से निरीक्षण के दौरान खड़ा धनिया एवं खड़ी मिर्च का नमूना लिया गया था। परीक्षण में अमानक पाये जाने पर विक्रेता बृजमोहन चौकसे के विरूद्ध भी थाना मदन महल में एफआईआर कराई गई।

इसे भी पढ़ें-  Coronavirus MP News: वेंटिलेटरयुक्त एंबुलेंस का किराया 25 रुपये प्रति किलोमीटर तय

इसी प्रकार महावर स्वीट्स एण्ड बेकर्स बिलहरी के संचालक शिवदयाल महावर द्वारा मिथ्याछाप पैक्ड नमकीन का विक्रय करने के आरोप में शिवदयाल महावर के विरूद्ध पुलिस थाना गोराबाजार में एफआईआर दर्ज कराई गई है।

वहीं सदर स्थित जैन स्वीट्स एण्ड नमकीन के संचालक राजेश कुमार जैन के प्रतिष्ठान से मिथ्याछाप खाद्य सामग्री पाये जाने पर केंट पुलिस थाना में आज एफआईआर दर्ज की गई थी*
खाद्य सुरक्षा विभाग के प्रभारी आशीष पांडे के मुताबिक मिलावट से मुक्ति अभियान के तहत विभागीय अमले के साथ-साथ खाद्य विभाग के अधिकारियों द्वारा भी खाद्य पदार्थों के नमूने परीक्षण हेतु लिये जा रहे हैं।

इसे भी पढ़ें-  पेट्रोल-डीजल के उछले दाम, कई शहरों में 102 रुपये तक पहुंचा पेट्रोल, जानें दिल्ली से पटना तक के रेट

इसके साथ ही चलित खाद्य परीक्षण प्रयोगशाला के माध्यम से भी जिले में विभिन्न प्रतिष्ठानों एवं दुकानों से खाद्य पदार्थों के 386 सेम्पल लिये जा चुके हैं। अभी तक नमूना परीक्षण की मिली रिपोट्र्स में 9 सेम्पल अमानक पाये गये हैं।

श्री पांडे ने बताया कि मिलावट से मुक्ति अभियान के तहत की गई आकस्मिक जांच के दौरान 8 लाख 81 हजार 480 रुपए कीमत की खाद्य सामग्री को जप्त भी किया गया है और 9 हजार 780 किलोग्राम खाद्य पदार्थों को नष्ट कराया गया है। आकस्मिक जांच की कार्यवाही में 1 लाख 75 हजार 150 रुपए का स्पॉट फाइन वसूला गया है तथा मिलावट के दोषी दुकानदारों पर 8 लाख 10 हजार रुपए का जुर्माना भी अधिरोपित किया जा चुका है।

Advertisements