पुलिस ने कब्र में दफन महिला का शव निकालकर कराया पोस्टमार्टम तो आ गया हैरान करने वाला सच, जानिए

छिंदवाड़ा: मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में एक ऐसा मामला सामने आया है, जहां कब्र में दफ्न एक नई शादी शुदा महिला की शव को पोस्टमार्टम के लिए बाहर निकालना पड़ा. महिला के परिवार को शक था कि उनकी बेटी का ससुराल वालों ने कत्ल किया है. जब यह पूरा मामला छिंदवाड़ा पुलिस प्रशासन के सामने आया तो उन्होंने महिला की लाश को कब्र से बाहर निकलवाकर पोस्टमार्टम कराया गया, जिसमें महिला के शरीर पर चोट के कई निशान मिले. पुलिस को शक हुआ कि यह नॉर्मल मौत नहीं है. पुलिस ने जब महिला के शौहर हाफिज खान से सख्ती से पूछताछ की तो उसने कत्ल की बात कुबूल कर ली.

दरअसल गुज़िश्ता जुमा को चौरई में नई शादीशुदा महिला की मौत हो गई थी. उसके पति हाफिज खान ने आनन-फानन में लाश का आखिरी रसूमात को अंजाम दिया. महिला के परिवार वालों ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई​ कि उनकी बेटी का कत्ल किया गया है. चौरई SDM की इजाज़त के बाद पुलिस ने महिला की लाश को पोस्टमार्टम के लिए कब्र से बाहर निकाला. पोस्टमार्टम के बाद लाश को दोबारा दफ्न किया गया. ASP संजीव उईके से ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में महिला के सिर पर चोट के निशान मिले हैं. जिसके बाद पुलिस ने महिला के शौहर हाफिज खान से पूछताछ की तो उसने कत्ल की बात कुबूल की.

शक के चलते पत्नी को उतारा मौत के घाट
हाफिज खान ने बताया की उसे अपनी बीवी रोशनी पर शक था कि उसका किसी दूसरे शख्स के साथ अफेयर चल रहा है. इस बात को लेकर दोनों के बीच काफी झगड़ा हुआ था और उसने रोशनी के साथ मारपीट की थी. पत्नी गुस्साकर अपने मायके आ गई थी. जिसके बाद हाफिज गुज़िश्ता गुरुवार को ही उसे मायके से ससुराल लेकर आया था. शुक्रवार को दोनों के बीच मारपीट में हुई. इसमें पत्नी के सिर और शरीर के दूसरे हिस्सों पर शदीद चोटें आईं और उसकी मौत हो गई. हाफिज और उसके परिवार ने मामले को छिपाने के लिए उसकी लाश का दफन कर दिया था. पुलिस ने हाफिज खान के खिलाफ धारा 302 के तहत मामला दर्ज कर लिया. सोमवार को अदालत में पेश करने के बाद उसे जेल भेज दिया गया.