पोर्टल में एंट्री नहीं करने पर तीन एएनएम को कारण बताओ नोटिस जारी

Advertisements

जबलपुर यश भारत। स्वास्थ्य विभाग के अंतर्गत संचालित योजनाओं की समीक्षा कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आज आयोजित जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में अपर कलेक्टर हर्ष दीक्षित द्वारा की गई।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ रत्नेश कुरारिया ने पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन द्वारा कोविड-19 की वर्तमान स्थिति एवं स्वास्थ्य विभाग के सभी कार्यक्रमों की उपलब्धि का पीपीटी प्रस्तुतिकरण किया गया।
गर्भावस्था में कम हीमोग्लोबिन पाए जाने के कारण प्रसव के दौरान अधिकांश मातृ मृत्यु होती है। इस पर संबंधित आशा एवं ए.एन.एम., सुपरवाइजर की जिम्मेदारी तय की जाएगी गर्भवती महिला के पंजीयन में हुई देरी एवं प्रसव पूर्व सेवाओ में लापरवाही बरतने वाली आशा एवं स्वास्थ्य कार्यकर्ता सुपरवाइजर की विभागीय जांच कर जिम्मेदारी तय कर कठोर कार्यवाही के निर्देश दिए गए।

सभी बी.एम.ओ. को निर्देशित किया गया कि विकासखण्ड स्तरीय समीक्षा बैठक आयोजित करें एवं प्रत्येक शनिवार को सेक्टर स्तर पर सभी सी.एच.ओ, सुपरवाइजर, स्वास्थ्य कार्यकर्ता, आशा कार्यकर्ताओ की समीक्षा बैठक आयोजित कर सभी स्वास्थ्य कार्यक्रमो की गंभीरता से समीक्षा करने निर्देश दिए गए।

स्वास्थ्य सेवाओं की आर.सी.एच. पोर्टल में एंट्री से गर्भवती महिला एवं बच्चो के स्वास्थ्य की मॉनिटरिंग राज्य स्तर पर की जाती है। *शहरी स्वास्थ्य केंद्र कैंट की तीन ए.एन.एम. द्वारा आर.सी.एच. पोर्टल में एंट्री नही करने पर कारण बताओ नोटिस जारी करने एवं समाधानकारक जवाब नही पाए जाने पर सेवा से बर्खास्त करने निर्देश दिए गए।

पी.सी.पी. एण्ड डी.टी. एक्ट अंतर्गत सूचना के आधार पर सोनोग्राफी सेंटर में निरीक्षण करने के निर्देश दिए गए।

*बैठक में सिविल सर्जन डॉ सी बी अरोरा, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ एस एस दाहिया, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ धीरज दवन्दे, डॉ विनीता उप्पल, महिला बाल विकास विभाग के डी.पी.ओ. मनोहर लाल मेहरा, जिला मलेरिया अधिकारी अजय कुरील, जिला कार्यक्रम प्रबंधक विजय पाण्डेय, डॉ विभोर हजारी, डॉ अमृता अग्रवाल सहित सभी खंड चिकित्सा अधिकारी एवं सी.डी.पी.ओ. उपस्थित रहे।

Advertisements