किसानों के तेवर देख दिल्ली में हाई अलर्ट, गुरुद्वारों पर नजर, सीमाओं पर बढ़ाई गई सख्ती

Advertisements

किसानों के तेवर देख दिल्ली में हाई अलर्ट, गुरुद्वारों पर नजर, सीमाओं पर बढ़ाई गई सख्ती। कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे हजारों किसान लगातार चौथे दिन बॉर्डर पर डटे हैं। वहीं पांच से छह किसान अन्य रास्तों से दिल्ली में प्रवेश कर इंडिया गेट सी हैक्सागन तक जा पहुंचे। किसानों के इंडिया गेट पहुंचने की खबर से हड़कंप मच गया। आननफानन में नई दिल्ली आने वाले सभी रास्तों पर पिकेट लगाकर चेकिंग शुरू कर दी गई।

बगैर जांच के किसी को भी नई दिल्ली इलाके में घुसने नहीं दिया। खासकर जंतर-मंतर, इंडिया गेट, विजय चौक, संसद भवन के आसपास पुलिस बल को तैनात कर दिया गया। हालांकि पुलिस ने किसानों को हिरासत में लेकर निरंकारी भवन छोड़ दिया। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि जो भी किसान नई दिल्ली पहुंचेगा, उसे निरंकारी भवन छोड़ दिया जाएगा।
वहीं, सिंघु बार्डर पर कुछ किसानों ने नरेला की ओर से दिल्ली में प्रवेश का प्रयास किया, लेकिन पुलिस ने किसानों को वहीं पर रोक लिया। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि उनको सूचना मिल रही है कि अब किसान छोटे-छोटे समूह बनाकर राजधानी में घुसने और इकट्ठा होने का प्रयास करेंगे। ऐसी आशंकाओं को देखते हुए पुलिस को अलर्ट पर रहने को कहा गया है। गुरुद्वारों में कहीं यह शरण न लें इस पर भी नजर रखी जा रही है।
सिंघु, टिकरी और गाजीपुर बार्डर के अलावा पुलिस ने दिल्ली-गुरुग्राम, दिल्ली-फरीदाबाद, कापसहेड़ा, ढांसा, कालिंदीकुंज, मयूर विहार-चिल्ला, डीएनडी, आनंद विहार, नोएडा-मयूर विहार बार्डर, सीमापुरी, भोपुरा, लोनी समेत दिल्ली के बाकी बार्डर पर सुरक्षा को कड़ा दिया है। रामलीला ग्राउंड समेत अन्य महत्वपूर्ण स्थानों पर लोकल पुलिस के साथ अतिरिक्त सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है।

इसे भी पढ़ें-  कटनी कोरोना अपडेट : 841 सेम्पल की रिपोर्ट में 173 संक्रमित, 167 स्वस्थ

निरंकारी ग्राउंड पहुंचे किसान असमंजस में
निरंकारी ग्राउंड में रविवार को किसानों की संख्या थोड़ी बहुत बढ़ गई। उत्तराखंड और दूसरे राज्यों से किसान यहां पहुंचे। एहतियात के तौर पर सुरक्षा बलों की संख्या को बढ़ा दिया गया। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी यहां डटे रहे। एंट्री और एग्जिट गेट पर पुलिस का पहरा बढ़ा दिया गया। वहीं दिल्ली सरकार, आम आदमी पार्टी और कांग्रेस की ओर से अधिकारी, विधायक व पार्टी के लोग यहां डटे रहे। निरंकारी ग्राउंट में बैठे किसान असंजस की स्थिति में हैं, उनको समझ नहीं आ रहा है कि वह निरंकारी ग्राउंड रुके या बार्डर चले जाएं।

इसे भी पढ़ें-  कटनी कोरोना अपडेट : 794 सेम्पल की रिपोर्ट में 137 नए पॉजीटव केस, 32 ने दी कोरोना को मात

गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों ने तोड़े बैरिकेड
भाकियू अध्यक्ष राकेश टिकैत के नेतृत्व में गाजीपुर बॉर्डर पर जमा हुए किसानों ने दोपहर को बैरिकेड की पहली कतार को तोड़ दिल्ली में घुसने की कोशिश की। हालांकि सुरक्षा बलों ने उन्हें पीछे धकेल दिया। यहां करीब 300 किसान जमा हैं। टिकैत ने कहा कि वह पंजाब व हरियाणा से आए किसान भाइयों के साथ हैं और उन्हें रामलीला मैदान जाने की अनुमति दी जाए। हालांकि दिल्ली पुलिस की ओर सेे किसानों को साफ संदेश दिया गया है कि यदि उनको अपनी बात रखनी है तो उनको निरंकारी ग्राउंड जाना होगा।


Advertisements