ज़िन्दगी की जंग हार गये सैकड़ों जान बचाने वाले करोना योद्धा डॉ शुभम उपाध्याय

सागर आशीष शुक्ला। बुंदेलखंड मेडिकल कालेज के कोरोना योद्धा डॉ शुभम उपाध्याय को आखिर बचाया नहीं जा सका है और उनका दुःखद निधन हो गया है।

कोरोना संक्रमण के इलाज के दौरान भोपाल के चिरायु अस्पताल में उन्होंने अपनी अंतिम सांस ली। पिछले करीब 6 माह से डॉ शुभम बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में भर्ती करोना संक्रमित मरीजों का इलाज कर रहे थे।

इसी दौरान पिछले दिनों उन्हें ही संक्रमण ने जकड़ लिया था। सागर के बीएमसी अस्पताल में उनके इलाज के दौरान हालत बिगड़ने पर उन्हें भोपाल के चिरायु अस्पताल मे शिफ्ट किया गया था।

यहां उनकी हालत बिगड़ने के बाद फेफड़ों ने काम करना बंद कर दिया था। मध्यम नौकरीपेशा परिवार के युवा होनहार डॉ शुभम को पैसों की कमी के चलते पूरी तरह से उपचार नहीं मिल पा रहा था।

यह बात सामने लाए जाने के बाद कई समाज सेवियों और संस्थाओं ने उनकी आर्थिक मदद शुरू कर दी थी। मंगलवार को ही प्रदेश सरकार ने उनका पूरा इलाज करने की जिम्मेदारी ली थी।परंतु इस निर्णय में देरी के चलते उन्हें ज़रूरी इलाज नहीं मिल पाया और वे जिंदगी की जंग हार गए।

डॉ शुभम उपाध्याय के निधन की खबर से उनकी जान बचाने के प्रयास में लगा बीएमसी का चिकित्सा अमला और स्थानीय चिकित्सा जगत के साथ ही आम सुधीजन भी स्तब्ध रह गए हैं और उनमें शोक की लहर व्याप्त हो गई है।