BPSC 65वीं की मुख्य परीक्षा आज, कॉपी में दिया निशान तो उम्मीदवारी होगी रद्द

Advertisements

BPSC 65वीं। बिहार लोक सेवा आयोग की ओर से 65वीं की मुख्य परीक्षा बुधवार से शुरू होगी। आयोग ने परीक्षा को लेकर कई निर्देश जारी किये हैं। खासतौर पर निर्देशित किया गया है कि उत्तरपुस्तिका में किसी प्रकार का निशान या धार्मिक चिह्न नहीं देना है।

BPSC

इसके अलावा किसी प्रकार के धार्मिक शब्दों का प्रयोग नहीं करना है। जैसे जय श्री राम, श्री गणेशाय नम:, जय जगदम्बा, जय महादेव, जय माता दी और अल्लाह इत्यादि नहीं लिखना है।

साथ ही उत्तर पुस्तिका में किसी प्रकार का स्लोगन भी नहीं लिखना है। जैसे जय हिन्द, जय भारत, जय मिथिलांचल, जय जवान सहित अन्य प्रकार के स्लोगन नहीं लिखना है। आयोग की माने तो परीक्षार्थी कॉपियों में पैरवी कराने के लिए कॉपियों में पहचान के तौर कई चीजों का इस्तेमाल करते हैं। उत्तर पुस्तिका की जांच करने वाले को अपनी पहचान बनाकर पैरवी कराने के लिए ऐसा किया जाता है।

इसे भी पढ़ें-  How To Oxigen Level: कोरोना: क्या करें जब अचानक गिरने लगे ऑक्सीजन लेवल? जानें घरेलू तरीके

ऐसी स्थिति में किसी परीक्षार्थी की उत्तरपुस्तिका में इस तरह का कुछ भी लिखा रहेगा तो उनकी उम्मीदवारी को समाप्त कर दिया जाएगा। इसके लिए दोषी परीक्षार्थी होंगे। इसके अलावा आयोग की ओर से स्पष्ट कर दिया गया है कि कोई भी छात्र एक कलर के पेन का इस्तेमाल करेगा। अगर दूसरे पेन का इस्तेमाल करता है तो वीक्षक से पहले वहां पर अभिप्रमाणित कराना होगा। ऐसा नहीं करने पर भी उम्मीदवारी रद्द की जा  सकती है।

इसके अलावा प्रश्नोत्तर समाप्त होने पर विशेष तरह के चिह्न का इस्तेमाल नहीं करना है। उत्तरपुस्तिका में किसी प्रकार का संबोधन जैसे सॉरी, थैंक्यू, सर को चरण स्पर्श शब्द, सर पास कर दीजिए जैसे शब्दों का प्रयोग नहीं करना है। उत्तर पुस्तिका में करेंसी या नोट नहीं रखना है। आयोग के परीक्षा नियंत्रक अमरेन्द्र कुमार ने बताया कि परीक्षा से संबंधित निर्देश दिया जा चुका है। कोई गड़बड़ी करने पर परीक्षार्थियों की उम्मीदवारी रद्द कर दी जाएगी।

इसे भी पढ़ें-  Roche कोरोना जंग में मिली ताकत: रोशे की एंटीबॉडी दवा के इमरजेंसी इस्तेमाल को भारत में मंजूरी

साढ़े पांच सौ पदों के लिए सवा छह हजार देंगे परीक्षा
बीपीएससी की 65वीं में 550 पदों के लिए परीक्षा में 63 सौ परीक्षार्थी शामिल होंगे। इसमें प्रशासनिक पदों पर वैकेंसी नहीं के बराबर है। इसमें ज्यादातर पद पंचायती राज व अन्य विभागों के लिए है। बुधवार को परीक्षा दो पालियों में होगी। पहली पाली की परीक्षा सुबह साढ़े नौ बजे से दोपहर साढ़े 12 बजे तक होगी। वहीं दूसरे पाली की परीक्षा दो बजे से शाम पांच बजे तक होगी। वहीं 26 व 28 नवम्बर की परीक्षा एक पाली में होनी है। इसमें मुख्य विषयवार परीक्षा होनी है।

दस केन्द्रों पर होनी है परीक्षा 
बुधवार से शुरू होने वाली परीक्षा दस केन्द्रों पर होनी है। इसके लिए विशेष व्यवस्था की गई है। पूरी परीक्षा जिला प्रशासन की देखरेख में होगी। कोरोना को लेकर विशेष निर्देश दिये गए हैं। परीक्षार्थियों को कम से कम आधा घंटे पहले प्रजेंट होना है। केन्द्रों धारा 144 लागू रहेगी। हैंड सेनेटाइजर से लेकर मास्क को अनिवार्य कर दिया गया है।

इसे भी पढ़ें-  त्रिपुरा में शादी समारोह में उत्पात मचाने वाले पूर्व डीएम का तबादला, हाइकोर्ट के नाराजगी पर सरकार ने किया ट्रांसफर
Advertisements