थाने में प्रेमिका के परिजनों को देखते ही प्रेमी ने काट ली अपनी गर्दन

Advertisements

प्रेमिका से बिछड़ने के डर से युवक ने मेरठ कोतवाली थाने में धारदार हथियार से गर्दन काटकर खुद को लहूलुहान कर लिया। पुलिस ने उसे तुरंत निजी अस्पताल में भर्ती कराया। युवती को आशा ज्योति केंद्र भेजा गया है।

पुलिस के अनुसार सूरजकुंड निवासी दीपक का कोतवाली के मोरीपाड़ा निवासी युवती से प्रेम प्रसंग चला आ रहा था। 20 नवंबर को दोनों घर से चले गए थे। युवती के परिजनों ने युवक पर अपहरण का आरोप लगाते हुए कोतवाली थाने में मुकदमा पंजीकृत करा दिया।
युवक के परिजनों पर लगातार दबाव बनाया जा रहा था। सोमवार को मौका पाकर युवक अपनी प्रेमिका को लेकर मेरठ आ गया और कोतवाली थाने जाने लगा। दोनों कोतवाली थाने में पहुंच गए। तभी अचानक सामने युवती के परिजनों को देख युवक आक्रोशित हो गया। उसने पुलिस पर भी झूठा मुकदमा दर्ज कर दबाव बनाने का आरोप लगाया।
जैसे ही युवती के परिजनों ने युवती को खींचने का प्रयास किया। युवक ने खुद के गले पर धारदार हथियार से वार कर खुद को लहूलुहान कर लिया। लहूलुहान स्थिति में युवक जमीन पर गिर गया और तड़पने लगा। यह देख वहां मौजूद पुलिसकर्मी और युवती के परिजनों के हाथ पांव फूल गए।

इसे भी पढ़ें-  बड़ी खबर: कटनी के पास प्रेमी-प्रेमिका ट्रेन के सामने कूदे, दोनों की मौत

इंस्पेक्टर कोतवाली आशुतोष कुमार ने युवक को तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया। युवक द्वारा यह कदम उठाए जाने के बाद युवती के परिजनों में भी हड़कंप मच गया। वह भी बेटी को बिना साथ लिए वहां से निकल गए। अस्पताल में युवक का उपचार चल रहा है।

सीओ कोतवाली अरविंद चौरसिया का कहना है कि घायल युवक को अस्पताल में भर्ती कराकर युवती को आशा ज्योति केंद्र भेज दिया गया है। मंगलवार को युवती के बयान के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

युवती के परिजन थाने से भागे
युवक ने खुद की गर्दन पर धारदार हथियार से वार किया था। युवती के परिजन वहां से भाग खड़े हुए। उन्होंने पुलिस से भी पल्ला झाड़ दिया है कि युवक से उनका कोई विवाद नहीं हुआ। कोर्ट में युवती जो भी बयान देगी, उसको मान लिया जाएगा। पुलिस ने बताया कि युवक की हालत में सुधार है। अब वह खतरे से बाहर है पुलिस उसके भी बयान दर्ज करेगी।

Advertisements