शहीद हो गए लेकिन औरंगजेब के सामने नहीं झुके

औरंगजेब को चुनौती दी है कि वे मर जाएंगे लेकिन इस्लाम कबूल नहीं करेंगे। गुस्साए क्रूर शासक औरंगजेब ने गुरु तेग बहादुर को समर्थकों के साथ गिरफ्तार कर लिया और पांच दिनों तक कड़ी शारीरिक यातनाएं दी गई। लेकिन गुरु तेग बहादुर ने फिर भी इस्लाम कबूल करने से इनकार कर दिया। औरंगजेब ने बर्बरता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि गुरु तेग बहादुर के सामने ही उनके समर्थकों को जिंदा जला दिया गया। इसके बावजूद औरंगजेब गुरु तेग बहादुर को झुका नहीं पाया।