छात्रों के लिए Good News: संबल योजना के विद्यार्थियों से मंडल की परीक्षा में नहीं लगेगी फीस

भोपाल। मप्र माध्यमिक शिक्षा मंडल की दसवीं-बारहवीं परीक्षा में एससी-एसटी व मजदूर वर्ग (संबल योजना) के छात्रों की अब फीस नहीं लगेगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को मुख्यमंत्री निवास में आयोजित बैठक में फीस में छूट दिए जाने के निर्देश दिए है। मुख्यमंत्री ने कहा कि संबल योजना गरीब परिवारों का संपूर्ण सुरक्षा चक्र है।

यह योजना पूरे देश में एक विशिष्ट योजना मानी गई है। योजना के क्रियान्वयन में आवश्यक धनराशि का प्रविधान कर सभी पात्र हितग्राहियों को लाभान्वित किया जाए। योजना में गरीबों, अनुसूचित जाति, जनजाति वर्ग के सर्वांगीण कल्याण की संभावनाएं है। अत: गरीबों को योजना का लाभ प्राथमिकता से मिले। बैठक में मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, संबंधित अधिकारी तथा मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल के अधिकारी मौजूद थे।

माशिमं में 900 रुपए लगती है परीक्षा फीस

मप्र माध्यमिक शिक्षा मंडल की दसवीं-बारहवीं परीक्षा में विद्यार्थियों की करीब 900 रुपए फीस लगती है। करीब दस सालों से एससी-एसटी के छात्रों के फीस में पूरी छूट मिलती है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश के बाद पिछले कुछ सालों से संबल योजना के विद्यार्थियों फीस में पूरी छूट दी जा रही थी। तीनों वर्गों में विद्यार्थियों की संख्या लगभग साढ़े तीन लाख है।

फीस की छूट की राशि को बाद में सरकार द्वारा माध्यमिक शिक्षा मंडल को लौटा दी जाती थी। पिछले दो सालों से मंडल को फीस की राशि नहीं लौटाई जा रही है। इससे सरकार पर ही माशिमं के ही फीस के 41 करोड़ की राशि बकाया हो चुकी है। जिसके बाद मंडल ने इस बार एससी-एसटी व संबल योजना के छात्रों से पूरी फीस लेने के निर्णय लिया था। अब मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद अब इन छात्रों से फीस नहीं ली जाएगी।