नीतीश को दिग्विजय का खुला ऑफर, देश बचाने के लिए भाजपा-संघ का साथ छोड़िए

Advertisements

पटना। बिहार चुनाव के परिणाम सामने आ चुके हैं। जनता ने एक बार फिर नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले एनडीए गठबंधन को अगले पांच सालों के लिए सत्ता सौंप दी है।

वहीं एग्जिट पोल से उत्साहित महागठबंधन 110 सीटों पर सिमट गई। वहीं दूसरी ओर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने नीतीश कुमार को संघ और भाजपा का साथ छोड़ने की नसीहत दी है। उनका कहना है कि देश को बर्बाद होने से बचाने के लिए भाजपा और संघ का साथ छोड़ दीजिए।

 

दिग्विजय सिंह ने कहा, ‘भाजपा/संघ अमरबेल के समान हैं, जिस पेड़ पर लिपट जाती हैं वह पेड़ सूख जाता है और वह पनप जाती है। नीतीश जी, लालू जी ने आपके साथ संघर्ष किया है आंदोलनों मे जेल गए हैं। भाजपा/संघ की विचारधारा को छोड़ कर तेजस्वी को आशीर्वाद दे दीजिए। इस अमरबेल रूपी भाजपा/संघ को बिहार में मत पनपाओ।’

 

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने नीतीश कुमार को बिहार छोड़कर भारतीय राजनीति में आने की सलाह दी है। उन्होंने कहा, ‘नीतीश जी, बिहार आपके लिए छोटा हो गया है, आप भारत की राजनीति में आ जाएं। सभी समाजवादी धर्मनिरपेक्ष विचारधारा में विश्वास रखने वाले लोगों को एकमत करने में मदद करते हुए संघ की अंग्रेजों के द्वारा पनपाई ‘फूट डालो और राज करो’ की नीति ना पनपने दें। विचार जरूर करें।’

राज्यसभा सांसद ने बिहार के मुख्यमंत्री को देश को बर्बाद होने से बचाने की अपील करते हुए कहा, ‘यही महात्मा गांधी जी व जयप्रकाश नारायण जी के प्रति सही श्रद्धांजलि होगी। आप उन्हीं की विरासत से निकले राजनेता हैं वहीं आ जाइए। आपको याद दिलाना चाहूंगा जनता पार्टी संघ की डुअल मेंबरशिप (दोहरी सदस्यता) के आधार पर ही टूटी थी। भाजपा/संघ को छोड़िए। देश को बर्बादी से बचाइए।’

इतना ही नहीं मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने भाजपा पर रामविलास पासवान की विरासत को खत्म करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, ‘भाजपा ने अपनी कूटनीति से नीतीश का कद छोटा कर दिया व रामविलास पासवान जी की विरासत को समाप्त कर दिया। सन 67 से लेकर आज तक जनसंघ/भाजपा ने हर गठबंधन सरकारों में अपना कद बढ़ाया है और सभी समाजवादी धर्मनिरपेक्ष विचारधारा वाले राजनैतिक संघटनों को कमजोर किया है।’

 

Advertisements