भाजपा के 2 मंत्री हारे 1 पीछे, कांग्रेस के विपिन वानखेड़े भी जीते

Advertisements

Mp Live: भारतीय जनता पार्टी भले ही अब प्रदेश की सत्ता में सेफ मोड में आ गई है लेकिन उसके 2 मंत्री चुनाव हार गए जबकि 1 अभी पीछे चल रहे हैं। एंदल सिंह कसाना तथा गिर्राज दंडोतिया चुनाव हार गए हैं। इधर डबरा से इमरती देवी पीछे चल रहीं हैं।

अपडेट

प्रदेश के 19 जिलों की 28 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव में 76% वोटों की गिनती पूरी हो गई है। 3 नवंबर को 28 सीटों पर 44.57 लाख वोट डाले गए थे। आज शाम 5 बजे तक 34.11 लाख वोटों की गिनती पूरी हो चुकी है। इन वोटों में से 50 % वोट भाजपा के खाते में गए हैं। इनकी संख्या 17.49 लाख हैं।

अब तक 9 सीटों के नतीजे आ गए हैं। इनमें 8 पर भाजपा और 1 पर कांग्रेस ने जीत दर्ज की। भाजपा के 6 मंत्री अनूपपुर से बिसाहूलाल सिंह, बदनावर से राजवर्धन सिंह दत्तीगांव, बमोरी से महेंद्र सिंह सिसौदिया, सांची से प्रभुराम चौधरी, ग्वालियर से प्रद्यु्म्न सिंह तोमर और सुवासरा से हरदीप सिंह डंग जीत गए हैं। भांडेर से भाजपा की रक्षा संत राम सिरोनिया ने महज 136 वोट से कांग्रेस के फूलसिंह बरैया को हराया है। मांधाता से भाजपा के नारायण पटेल ने जीत दर्ज की है। इधर, कांग्रेस ने ब्यावरा में अपना खाता खोला। यहां से कांग्रेस के रामचंद्र दांगी ने भाजपा के नारायण सिंह पंवार को 12102 वोटों से हराया है।

चंबल की सुमावली सीट पर मंत्री एंदल सिंह कंषाना 19 हजार से अधिक वोटों से पीछे हैं। उनकी हार लगभग तय मानी जा रही है। डबरा में भी बड़ा उलटफेर होता नजर आ रहा है। यहां से भाजपा प्रत्याशी और मंत्री इमरती देवी 11वें राउंड में 615 वोट से कांग्रेस के सुरेश राजे से पीछे चल रहीं हैं। ग्वालियर पूर्व की बात करें तो यहां 14वें राउंड में भाजपा के मुन्ना लाल गोयल कांग्रेस के सतीश सिकरवार से 1548 वोटों से पिछड़ गए हैं।

उपचुनाव के नतीजों की तस्वीर लगभग साफ हो चुकी है। राज्य की शिवराज सरकार को स्पष्ट बहुमत है। मुख्यमंत्री शिवराज ने दोपहर 12.45 बजे ही ट्वीट कर कहा कि जनता ने एक बार फिर विकास के लिए भाजपा को मध्यप्रदेश की जिम्मेदारी सौंपने का निर्णय ले लिया है। उधर, दोपहर 1.30 बजे रुझानों में तस्वीर साफ होने के बाद कमलनाथ ने भोपाल में प्रदेश कांग्रेस कार्यालय छोड़ दिया।

Advertisements