Katni: 24 घण्टे के भीतर अंधे हत्याकांड का खुलासा, 2 गिरफ्तार, ये था कारण

कटनी। विजयराघवगढ़ पुलिस ने 24 घंटे के भीरत अंधे हत्या काण्ड का खुलासा किया है। दसमत सिंह बरगाही पिता शंकर सिंह बरगाही उम्र 21 वर्ष निवासी ग्राम खिरवा नम्बर 01 थाना विजयराघवगढ़  गत 24 अक्टूबर को साईकल से डबल रोटी लेने जाने को कहकर गया था देर रात्रि तक घर नहीं पहुचने पर दिनांक गुमइंसान कायम कर खोज शुरू की गई।

बीते 27 अक्टूबर को प्रातः पथरहटा गांव के पास स्थित आमपासी तालाब  (डेम) में शव पड़े होने की सूचना पर यह  मृतक दसमत का शव ही निकला आमपासी तालाब पथरहटा के पास संदिग्ध अवस्था में शव मिलने पर मौके पर एफ.एस.एल. अधिकारी डॉ अवनीश कुमार एवं अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) सुश्री शिखा सोनी द्वारा मौके पर निरीक्षण कर आवश्यक साक्ष्य एकत्र करने के निर्देश दिये गये जिसमे घटना संदेहास्पद पायी गयी ।

पूछताछ पर पता चला कि मृतक दसमत सिंह को गांव के अनमोल रजक के साथ मोटर साईकल पर गया था तथा उसी दिनांक की रात्रि 7-8 बजे ग्राम खलैंधा, खिरवा के बीच मजीट पुलिया के पास सुरेन्द्र तिवारी ने संजू उर्फ संजय चक्रवर्ती, अनमोल रजक एवं दसमत सिंह को आपस में मारपीट करते देखा था।

मृतक दसमत बरगाही की पी.एम. रिपोर्ट प्राप्त की गई। जिसमें डाक्टर द्वारा मृत्यु के बाद पानी में डुबाना व गला दबाने से मृत्यु होना लेख किया है। जिस पर थाना विजयराघवगढ़ में अपराध क्रमांक 339/20 धारा 302, 201, 34 भादवि का संदेहियों संजू उर्फ संजय चक्रवर्ती, अनमोल रजक के विरूद्ध दर्ज कर विवेचना में लिया गया।

प्रकरण की गंभीरता को देखते हुये पुलिस अधीक्षक ललित शाक्यवार द्वारा तत्काल अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) सुश्री शिखा सोनी के निर्देशन में थाना प्रभारी विजयराघवगढ़ निरीक्षक सुधाकर बारसकर व थाना स्टाफ उप निरीक्षक आर.एल. चौधरी, आरक्षक कमलेश बैरागी, आरक्षक सोमनाथ शर्मा एवं आरक्षक पप्पू प्रजापति को लगाया गया।

मर्ग जांच से पाया गया कि मृतक दसमत बरगाही का संजू उर्फ संजय चक्रवर्ती निवासी खिरवा नम्बर 01 से व्यक्तिगत संबंधों को लेकर कुछ दिनों से विवाद चल रहा था। जिसकी रंजिश के चलते संजू उर्फ संजय चक्रवर्ती द्वारा दसमत बरगाही को रास्ते से हटाने के लिये अनमोल रजक की मदद से साजिश के तहत दिनांक दसमत के साथ अनमोल रजक को 500/- रूपये देकर रात्रि होने तक बाहर घुमाते रहने व रात्रि में हत्या करने की योजना बनाकर  रात्रि 7-8 बजे के मध्य खिरवा नम्बर 01 मजीट पुलिया पर संजू उर्फ संजय चक्रवर्ती व अनमोल रजक ने मिलकर दसमत सिंह की मारपीट कर गमछे से गला कसकर हत्या कर दी एवं मृतक की मोटर साईकल व शव को आमपासी तालाब पथरहटा में ले जाकर फेक दिया।

आरोपियों ने अपराध करना तथा घटना में मृतक की मोटर साईकल आरोपियों की निशादेही पर तालाब से जप्त की गई। घटना में प्रयुक्त गमछा व आरोपी संजू उर्फ संजय चक्रवर्ती का मोबाईल जप्त किया गया। आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय पेश किया जा रहा है। इस पतासाजी में  उल्लेखनीय भूमिका – निरीक्षक सुधाकर बारसकर, उप निरीक्षक आर.एल. चैधरी, आरक्षक कमलेश बैरागी, आरक्षक सोमनाथ शर्मा, आरक्षक पप्पू प्रजापति, आरक्षक अरविंद गर्ग व सायवर सेल आरक्षक अजय एवं ग्राम रक्षा समिति के सदस्य रामकृष्ण मिश्रा, नेक सिंह, रघुनाथ साहू, कुंज बिहारी मिश्रा का सराहनीय योगदान रहा।