Advertisements

कोर्ट के फैसले से कांग्रेस को ईमानदारी का तमगा नहीं मिल जाता-अरुण जेटली

नई दिल्ली।  केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की पटियाला हाऊस स्थित एक विशेष अदालत द्वारा 2जी घोटाला मामले में सभी आरोपियों को आज बरी किये जाने पर सरकार ने कहा है

 

कि इससे कांग्रेस को ईमानदारी का तमगा नहीं मिल जाता। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने यहां संसद परिसर में इस फैसले पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए संवाददाताओं से कहा कि अदालत का फैसला आने के बाद से ही कांग्रेस नेता ऐसा जता रहे हैं जैसे उन्हें ईमानदारी का तमगा मिल गया हो और अदालत ने उनकी नीति को ईमानदार नीति का प्रमाणपत्र दे दिया हो।

उन्होंने वित्त वर्ष 2007-08 में किए गए 2जी स्पेक्ट्रम आवंटन से लेकर 2016 तक के स्पेक्ट्रम आवंटन के आंकड़े पेश करते हुए यह बताने की कोशिश की कि इससे सरकारी खजाने को कितना नुकसान हुआ है। यह पूछे जाने पर कि क्या वह मानते हैं कि कोई घोटाला हुआ है, जेटली ने कहा कि उन्होंने सारे आंकड़े और तथ्य मीडिया के सामने रख दिए हैं। उन्होंने कहा कि जांच तथा अभियोजन एजेंसी अदालत के फैसले का अच्छी तरह अध्ययन करने के बाद आगे की रणनीति तय करेंगी। जेटली ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने भी इसकी प्रक्रिया को गलत माना था। 2012 में सुप्रीम कोर्ट ने स्वीकार किया था कि 2जी स्पेक्ट्रम आवंटन मामले में गड़बड़ी हुई है और इसी के चलते लाइसेंस रद्द किए गए थे।