PDP में फूट:बाजवा समेत 3 बड़े नेताओं का इस्तीफा, बोले- महबूबा के देशभक्ति को चोट पहुंचाने वाले बयान से दुखी

Advertisements

जम्मू कश्मीर। पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) प्रमुख और जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को बड़ा झटका लगा है। पार्टी नेता टीएस बाजवा, हुसैन ए वफा और वेद महाजन ने इस्तीफा दे दिया है। तीनों का कहना है कि वे पार्टी प्रमुख के बयान और उनके कुछ फैसलों से असहज महसूस कर रहे थे। खासकर आर्टिकल 370 की वापसी तक तिरंगे को न उठाने वाले बयान से नाराज थे। ये देशभक्ति को चोट पहुंचाने वाला बयान था।

आर्टिकल 370 की वापसी तक कोई और झंडा नहीं उठाएंगी: महबूबा
14 महीने बाद नजरबंदी से रिहा होने पर महबूबा मुफ्ती ने पिछले दिनों कहा था कि वे आर्टिकल 370 फिर से लागू होने तक जम्मू-कश्मीर के अलावा कोई और झंडा नहीं उठाएंगी। जब उनका (जम्मू-कश्मीर) झंडा वापस आ जाएगा, तब तिरंगे को भी उठा लेंगी।

इसे भी पढ़ें-  J&k: देशद्रोहियों और पत्थरबाजों पर सरकार का बड़ा एक्शन, अब न सरकारी नौकरी मिलेगी, न विदेश जाने की मंजूरी

भाजपा कार्यकर्ताओं ने PDP ऑफिस पर तिरंगा फहराया
भाजपा कार्यकर्ता सोमवार को श्रीनगर में लाल चौक स्थित PDP ऑफिस पहुंचे और जम्मू-कश्मीर के झंडे के ऊपर ही तिरंगा चढ़ा दिया। भारत माता की जय के नारे भी लगाए। इससे पहले रविवार को भाजपा के छात्र संगठन ABVP के कार्यकर्ताओं ने भी लगातार दूसरे दिन प्रदर्शन किया था। इस दौरान महबूबा मुफ्ती के खिलाफ नारेबाजी की गई थी।

महबूबा को गिरफ्तार किया जाए: भाजपा

महबूबा मुफ्ती के बयान से भड़की भाजपा की जम्मू-कश्मीर इकाई ने उनकी गिरफ्तारी की मांग की है। भाजपा ने कहा था- धरती पर कोई ताकत नहीं है जो राज्य का झंडा फिर से फहरा सकती है या संविधान के अनुच्छेद-370 को बहाल कर सकती है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रवींद्र रैना ने कहा कि मैं उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से अनुरोध करता हूं कि वे महबूबा मुफ्ती की टिप्पणी का संज्ञान लें और देशद्रोही कृत्य के लिए उन्हें सलाखों के पीछे पहुंचाएं। इसी मसले पर दिल्ली के एक वकील विनीत जिंदल ने महबूबा मुफ्ती के खिलाफ पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई है।

Advertisements