सेना के शीर्ष कमांडरों का आज से चार दिवसीय सम्मेलन, लद्दाख और आंतरिक सुधारों पर होगी चर्चा

नई दिल्ली। सेना के शीर्ष कमांडरों का चार दिवसीय सम्मेलन आज से शुरू हो रहा है। चार दिवसीय सम्मेलन में लद्दाख और आंतरिक सुधारों पर चर्चा की जाएगी। इसके साथ ही गैर सैन्य गतिविधियों में कटौती करने जैसे उपायों पर भी विचार किया जाएगा।

चार दिवसीय सम्मेलन में पूर्वी लद्दाख के साथ ही चीन से लगने वाली वास्तविक नियंत्रण रेखा के अन्य संवेदनशील इलाकों में भारत की युद्धक तैयारियों का आकलन करेंगे। सरकारी सूत्रों ने बताया कि सैन्य कमांडर, संसाधनों के तर्कसंगत वितरण के लिए काफी समय से लंबित सुधारों पर चर्चा करेंगे।

सेना के शीर्ष कमांडरों के सम्मेलन में थल सेना के वरिष्ठ अधिकारी, सेना के उप प्रमुख, सभी सेना कमांडर, सेना मुख्यालय के प्रधान कर्मचारी अधिकारी (पीएसओ) और अन्य वरिष्ठ अधिकारी शामिल होंगे।

 

लद्दाख समेत कई अहम मुद्दों पर होगी चर्चा

सम्मेलन में पूर्वी लद्दाख के साथ ही चीन से लगने वाली वास्तविक नियंत्रण रेखा के अन्य संवेदनशील इलाकों में भारत की युद्धक तैयारियों का आकलन करेंगे। सरकारी सूत्रों ने बताया कि कमांडर संसाधनों के तर्कसंगत वितरण के लिए काफी समय से लंबित सुधारों पर चर्चा करेंगे। इनमें विभिन्न समारोह आयोजित करने की प्रथाओं और गैर सैन्य गतिविधियों में कटौती करने जैसे उपाय शामिल हैं।