मां ने चढ़ाई बेटे की बलि? माता रानी को प्रसन्न करना चाहती थी महिला, हुई गिरफ्तार

Advertisements

पन्ना: भारत में जहां लोगों के बीच भक्ति का श्रद्धा और भाव है तो वहीं कई लोग भक्ति को अंधविश्वास समझ बैठते हैं। लेकिन अंधविश्वास में आकर कई बार ऐसा काम कर लेते हैं जिससे की काफी ऐसा नुकसान हो जाता है जिसकी भरपाई शायद हम कभी नहीं कर पाते। ऐसा ही मामला सामने आया है पन्ना जिले से जहां एक मां ने अपने ही बेटे की बली चढ़ा दी, वजह थी माता रानी को प्रसन्न करने की।

दरअसल, पन्ना जिले में एक महिला ने देवी मां को प्रसन्न करने के लिए अपने 24 वर्षीय बेटे की बली चढ़ा दी। रात को महिला का बेटा सोया हुआ था और सोते हुए में उसने कुल्हाडी से गले पर वार कर उसकी कथित रूप से बलि चढ़ा दी। इस घटना के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गई और मौके पर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

इसे भी पढ़ें-  बागपत : ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे पर बड़ा हादसा, बेकाबू होकर पलटा पीएसी का ट्रक, 30 जवान घायल

महिला का कहना उसे हो रहा था दैवीय प्रभाव का अहसास

पन्ना कोतवाली पुलिस ने महिला को गिरफ्तार कर लिया। महिला की पहचान कोहनी गांव में रहने वाली सुनिया बाई लोधी (लगभग 50 साल उम्र) हुई और जब उससे पुलिस ने पूछताछ की तो उसने बताया कि उसे लगभग पिछले दो साल से कुछ दैवीय प्रभाव होने का अहसास हो रहा था। ऐसी घटना आज रात में भी हुई थी और उसी प्रभाव के होने के कारण कुल्हाडी से उसने अपने बेटे द्वारका लोधी जो की 24 वर्षीय था उसके के गले पर कुल्हाडी से वार कर हत्या कर दी।

इसे भी पढ़ें-  कटनी कोरोना अपडेट : 794 सेम्पल की रिपोर्ट में 137 नए पॉजीटव केस, 32 ने दी कोरोना को मात

वहीं पन्ना कोतवाली थाना प्रभारी अरुण सोनी ने बताया की शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है और फिलहाल आरोपी महिला से पूछताछ जारी है। इसके अलावा उनसे देवी मां को बलि चढाने वाले मामले में पूछा गया तो बोले ‘शुरुआती तौर पर पता चला है कि उसको ये भाव आते रहते थे और उस भाव के आने के स्थिति में वह यह बात करती थी कि इसे मारना है, उसे मारना है. यह बात गांव वालों ने आज बताई है। बातचीत करके इसका आगे पूरा खुलासा किया जाएगा।’

पड़ोसी ने मीडिया से बताया- महिला कहती रहती थी बलि ले लूंगी

इसे भी पढ़ें-  Coronavirus Triple Mutant: कोरोना की दूसरी लहर के बीच खुशखबरी, खुद ही खत्म हो गया तिहरे म्यूटेशन वाला वेरिएंट

इसी बीच, कोहनी गांव के राम भगत ने मीडिया को बताया, ‘सुनिया बाई ने अपने बच्चे को मार दिया. उसको देवी मां के भाव आते थे और कहती थी कि मैं बलि ले लूंगी। उसने रात में सोये में अपने बच्चे की हत्या कर दी।’ उन्होंने कहा, ‘घटना के समय उनके घर में सुनिया बाई, उसका पति एवं बेटा थे। उसका पति एवं बेटा सोये हुए थे। रात में सुनिया बाई ने कुल्हाडी ली और उसने अपने बेटे को काट दिया. उसने अपने बच्चे को काटकर अपने पति को भी बताया था कि देखो मैंने अपना काम कर दिया है, बलि ले ली है। बच्चे को मार दिया है और जाकर देखो।’

Advertisements