अल्ट्रावाइलेट डिसइंफेक्शन उपकरण से 10 सेकंड में कोरोना का खात्मा, जानिए कैसे

इंदौर । कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए इन दिनों पूरी दुनिया में प्रयास किए जा रहे हैं। इस कोशिश के बीच द नेक्स्ट जनरेशन ने नवाचार किया है।

इसके तहत रोजमर्रा के जीवन में उपयोग आने वाली वस्तुओं को संक्रमण से बचाव के लिए अल्ट्रावाइलेट (यूवी) डिसइंफेक्शन उपकरण तैयार किया है। इसे पोर्टेबल यूवीसी हैंडहेल्ड स्टरलाइजेशन उपकरण कहते हैं।

एक महीने में तैयार किए गए इस उपकरण का नाम द टर्मिनेटर रखा है। इसे तैयार करने वाले द नेक्स्ट जनरेशन के डायरेक्टर नारायण फरकिया ने बताया कि कोरोना संक्रमण के इस समय में समाज में कुछ योगदान देने के मकसद से इस पर रिसर्च की। इसका डिजाइन यूनिक बनाया है ताकि उपयोग करने में यह बहुत आसान रहे।

इसका परीक्षण आइआइटी इंदौर से करवाया गया। वहां से भी उपकरण को पास कर दिया गया है। नारायण के साथ ही उनके दोस्त वंश बोरदिया, प्रियांशु ऐरन ने इसमें महत्वपूर्ण योगदान दिया है। सभी स्कूल के दोस्त हैं और हाल ही में 12वीं कक्षा पास की है।

आइआइटी ने जांच में किया पास

युवाओं ने अपनी रिसर्च की जांच आइआइटी इंदौर में कराई है। बायोसाइंसेस और बायोमेडिकल इंजीनियरिंग के एसोसिएट प्रोफेसर देबाशीश नायक द्वारा जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि पांच से दस सेकंड में कोरोना संक्रमण के साथ ही अन्य लाइव वायरस को खत्म करने में उपकरण कारगर है। इससे 99.99 फीसदी वायरस को खत्म किया जा सकता है। युवाओं को मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान और सांसद शंकर लालवानी कोरोना वारियर के रूप में सम्मानित कर चुके हैं।