जबलपुर, संस्कारधानी के धन्वंतरि नगर क्षेत्र से 13 साल के बच्चे का अपहरण करने वालों ने उसकी हत्या कर दी। पनागर क्षेत्र की एक नहर में उसका शव रविवार सुबह मिला।

अपहरणकर्ताओं ने 2 करोड़ रुपए की फिरौती मांगी थी। पुलिस करीब दो दिन बीत जाने के बाद भी अपहरणकर्ताओं को पकड़ नहीं पाई और रविवार सुबह बच्चे का शव मिला। घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे हैं। बच्चे की मौत की जानकारी मिलने के बाद धन्वतरि नगर में शोक छा गया है।

बच्चे के अपरहण के बाद से मां का रो-रोकर बुरा हाल था। बेटे के घर आने का रास्ता देखते हुए उसके परिजनों के आंखों से आंसू नहीं रुक रहे थे, मां दरवाजे पर टकटकी लगाए उसके बेटे का इंतजार करती रह गई।

बार-बार फोन लगाते रहे अपहरणकर्ता

जानकारी के मुताबिक अपहरणकर्ता बार-बार फोन लगाकर बच्चे के माता-पिता से 2 करोड़ रुपए देने की बात कहते रहे। माता-पिता ने कहा कि उनके पास दो करोड़ रुपए नहीं हैं।

आपको किसी ने गलत जानकारी दी है। वहीं यह भी पता चला है कि फिर अपहरणकर्ताओं ने कुछ रियायत करने की भी बात कही थी। लेकिन रुपये लेकर ही बच्चे को छोड़ने के लिए अड़े हुए थे। इस बीच बच्चे की बात भी उसके स्वजन से कराई गई, ताकि उन्हें यकीन हो जाए कि बच्चा उनके पास ही है।

 दुकान गया था, उसके बाद आया फिरौती के लिए फोन

धन्वंतरि नगर निवासी 13 वर्षीय बालक अपने घर से गुरुवार की शाम 6 बजे चिप्स और अन्य सामान लेने किराना दुकान गया था। जहां से उसका अपहरण कर लिया गया। अपहरणकर्ता ने बालक के स्वजन को फोन करके दो करोड़ रुपये की मांग की थी।