धर्मशाला में बनेगा थ्रीजी मेगा एक्वेरियम, समुद्र में सैर करने जैसा होगा अहसास

बौद्ध धर्मगुरु दलाईलामा की नगरी धर्मशाला में आने वाले देश-विदेश के पर्यटकों को जल्द थ्र्रीजी मेगा एक्वेरियम में विभिन्न प्रकार के जलीय जीव, मछलियां और जलीय पौधे देखने को मिलेंगे। पर्यटकों को एक प्रकार से समुद्र में सैर करने जैसा एहसास होगा, क्योंकि राज्य सरकार का मत्स्य निदेशालय धर्मशाला में चैतडू़ के पास जल्द थ्रीजी मेगा एक्वेरियम का निर्माण करवाएगा। एक हेक्टेयर पर बनने वाले इस मछलीघर पर करीब 80 से 100 करोड़ रुपये खर्च होंगे। इस पारदर्शी एक्वेरियम में जलीय जीव और पौधे को रखे जाएंगे। 

इस तरह से अब धर्मशाला की तिब्बती धर्मगुरु दलाईलामा की नगरी, एचपीसीए क्रिकेट स्टेडियम के अलावा विशाल थ्रीजी एक्वेरियम के रूप में भी बनने जा रही है। दलाईलामा का निवास स्थान होने के कारण धर्मशाला में दुनिया भर से पर्यटक आते हैं, उनके लिए भी यह एक्वेरियम आकर्षण का केंद्र होगा। इस थ्रीजी मेगा एक्वेरियम की स्थापना के लिए सरकार ने पीपीपी मोड पर फर्मों से ऑनलाइन आवेदन मांग लिए गए हैं।  
थाईलैंड, यूके में हैं इस तरह के एक्वेरियम : सतपाल
हिमाचल प्रदेश के मत्स्य निदेशालय के निदेशक सतपाल मेहता के अनुसार पीपीपी मोड के तहत स्थापित किए जा रहे इस थ्रीजी मेगा एक्वेरियम के लिए 17 नवंबर तक ऑनलाइन एक्सप्रेशन ऑफ इंट्रस्ट मांगे गए हैं। इन्हें मत्स्य पालन विभाग के बिलासपुर कार्यालय में जमा करवाना होगा। उन्होंने बताया कि इस तरह के एक्वेरियम थाईलैंड और यूके आदि में हैं। हालांकि जम्मू शहर में भी बहुत बड़ा अंडरग्राउंड एक्वेरियम है।

Enable referrer and click cookie to search for pro webber