बैतूल में ट्रेन से कटा, सिर 1300 किमी दूर बेंगलुरु में मिला

बैतूल Betul Train Accident । जिले में एक दर्दनाक घटना सामने आई है। बैतूल रेलवे स्टेशन के पास राजधानी एक्सप्रेस से एक युवक कट गया, उसके शरीर के कई टुकड़े हो गए। शासकीय रेल पुलिस (जीआरपी) को मौके से उसका सिर नहीं मिला। उधर, यहां से 1300 किमी दूर बेंगलुरु में ट्रेन के इंजन में फंसा हुआ सिर धुलाई- सफाई के दौरान मिला। बेंगलुरु से पुलिस कटे हुए सिर का फोटो लेकर बैतूल पहुंची और घटना के बारे में विस्तृत पूछताछ की। युवक के स्वजनों ने फोटो देखकर उसकी शिनाख्त रवि मरकाम के रूप में की। युवक के परिवार की आर्थिक स्थिति इतनी कमजोर है कि वे बेंगलुरु नहीं जा पा रहे हैं। बेंगलुरु पुलिस कटे हुए सिर को दफनाएगी।

जीआरपी थाने के प्रधान आरक्षक वेदप्रकाश शर्मा के मुताबिक, घटना तीन अक्टूबर की है। रवि माचना पुल के पास ट्रेन की चपेट में आ गया था। उसके शरीर के कई टुकड़े हो गए। घटनास्थल से क्षत-विक्षत शरीर का सिर भी बरामद नहीं हुआ था। हालांकि चार अक्टूबर को शव के निशान और कपड़ों से उसकी शिनाख्त रवि के रूप में हो गई थी।
स्वजनों ने उसका अंतिम संस्कार भी कर दिया था। उधर, बेंगलुरु पुलिस ने पहले राजधानी एक्सप्रेस के रूट पर हुई दुर्घटनाओं के बारे में पता लगाया। बैतूल में ऐसी घटना होने की जानकारी मिलने पर 13 अक्टूबर को यहां पहुंची। जीआरपी की मदद से रवि के स्वजनों को बुलवाया गया। उन्होंने फोटो देखकर कटा हुआ सिर रवि का होने की पुष्टि की।

रवि कोठी बाजार इलाके में रहता था और नगर पालिका में काम करता था। स्वजनों के मुताबिक रवि कई दिनों से काम पर नहीं जा रहा था। तीन अक्टूबर को संभवत: वह घूमते हुए माचना पुल पर चला गया और ट्रेन की चपेट में आने से उसकी मौत हो गई।