जबलपुर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने किया सीएमओ व मेडिकल डीन का सम्मान

आशीष शुक्ला

जबलपुर। विगत 7 महीनों से जबलपुर में कोरोनावायरस के खिलाफ जंग लड़ रहे डॉक्टर रूपी सिपाहियों में सबसे अहम भूमिका निभाने वाले संस्था नेताजी सुभाष चंद्र बोस मेडिकल कॉलेज एवं विक्टोरिया अस्पताल के सम्मान में आज जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ रत्नेश कुररिया एवं डीन डॉक्टर कसार का सम्मान समारोह जबलपुर आई.एम.ए. ने किया, साथ ही मास्क एवं पीपीई किट भी डोनेट किए।

डॉ रत्नेश कुररिया जिला स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी ने आई. एम. ए. का आभार व्यक्त करते हुए जानकारी दी कि अब जबलपुर में कोरोनावायरस के लिए इलाज के लिए जांच सुविधा कामा बेड संख्या, दवाइयों एवं चिकित्सकों की कमी को पूरा कर लिया गया है।

डॉक्टर कसार ने अपने वक्तव्य में आई.एम.ए. को धन्यवाद प्रकट किया और इस मुहिम में जारी लड़ाई में लगातार उनका साथ दे रहे अन्य डॉक्टरों, नर्सेज एवं अन्य सभी पैरामेडिकल स्टाफ सहित जनप्रतिनिधियों का भी आभार प्रकट किया।

जिन्होंने वक्त वक्त पर आ रही कठिनाइयों को दूर करने में अहम भूमिका निभाई उन्होंने जानकारी दी कि मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन एवं दवाइयों की भरपूर उपलब्धि है।

एवं सरकार की पहल से अब मेडिकल पहले से ज्यादा टेक्निकल एडवांस हो गया है। आई. एम. ए. जबलपुर के अध्यक्ष डॉ दीपक साहू एवं सचिव डॉ ब्रजेश चौधरी ने कहा कि कार्यक्रम में आई.एम.ए सभी डॉक्टरों एवं पैरामेडिकल स्टाफ का सम्मान करना चाहते थे, परंतु सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए प्रतीक के तौर पर हम दोनों संस्था प्रमुख का सम्मान कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि मेडिकल एवं विक्टोरिया अस्पताल के डॉक्टरों ने ना केवल मुस्तैदी से मोर्चा संभाला बल्कि एक मिसाल की तरह समस्त चिकित्सकों को आगे की राह दिखाएं।

विशेष आभार डॉ के. एल. महेश्वर एवं डॉ अनिमेष गुप्ता को दिया जिन्होंने पीपी किट दान किए कार्यक्रम में मंच संचालन सचिव डॉ अभिजीत विश्नोई ने किया एवं डॉक्टर अरविंद जैन और डॉ आरके पाठक जैन से अपना संबोधन किया।

अंत में डॉ अनुश्री जद्दार ने सब का धन्यवाद करते हुए कार्यक्रम के समापन की घोषणा की। कार्यक्रम की शोभा शहर के सभी जाने पहचाने डॉक्टरों ने अपनी उपस्थिति से बढ़ाई।इस दौरान कार्यक्रम में डॉ अश्विनी पाठक ,डॉ गीता गोविंद ,डॉक्टर सूर्यवंशी, डॉक्टर डीके तिवारी, डॉक्टर शब्बीर हुसैन, आमिर नसीराबादी ,डॉक्टर संजीव वड़खड़े ,डॉक्टर कावेरी शाह आदि उपस्थित थे।