कुछ रोगियों में सुनने की क्षमता पूरी तरह से खत्म कर रहा कोरोना वायरस: नए शोध का दावा

लंदन। कोरोना वायरस को लेकर लगातार नई बाते सामने आ रही है। अब पता चला है कि कोरोना वायरस कुछ रोगियों में सुनने की क्षमता को हानी पहुंचा रहा है। एक अध्ययन के अनुसार जो यूके में कोरोना वायरस (COVID-19) को लेकर इस तरह का ये पहला मामला रिपोर्ट किया गया है।

यूके में यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन और बाकी वैज्ञानिकों के अनुसार,इस संभावित दुष्प्रभाव के बारे में लोगों के बीच जागरूकता जरुरी है। उन्होंने कहा कि ऐसा क्यों हो रहा है इसका कारण बहुत स्पष्ट नहीं हैं।

बीएमजे केस रिपोर्ट्स नामक पत्रिका में प्रकाशित शोध में अस्थमा से पीड़ित एक 45 वर्षीय व्यक्ति के मामले के बारे में बताया गया है। जिसे ब्रिटेन के रॉयल नेशनल थ्रोट नोज एंड इयर हॉस्पिटल में तब भेजा गया था, जब सीओवीआईडी-19 ​​के लिए इलाज के दौरान एक कान में सुनने की क्षमता में अचानक कमी आ गई थी।

वैज्ञानिकों के अनुसार, मरीज को COVID-19 लक्षणों के साथ अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जिसका इलाज 10 दिनों से चल रहा था, इस दौरान उसे गहन चिकित्सा के लिए स्थानांतरित किया गया क्योंकि उसे सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। अध्ययन में कहा गया कि उन्हें 30 दिनों के लिए वेंटिलेटर पर रखा गया इस दौरान अन्य जटिलताओं विकसित हुई।

शोधकर्ताओं ने कहा कि उन्हें एंटीवायरल ड्रग रेमेडिविर, अंतः शिरा स्टेरॉयड और एक रक्त आधान के साथ इलाज किया गया था जिसके बाद वह बेहतर होने लगे। हालांकि, रोगी ने अपने बाएं कान में रिंगिंग (टिन्निटस) देखा जिसके बाद सांस की नली हटने के एक हफ्ते बाद अचानक उस कान में सुनाई देने बंद हो गया।

उसके कान की जांच की गई, उन्होंने पाया कि कोई रुकावट या सूजन नहीं थी, लेकिन एक श्रवण परीक्षण से पता चला कि वह बाएं कान में अपनी सुनाई देने की क्षमता खो चुका था।