Jabalpur पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा के सख्त निर्देश, त्योहारों पर चुस्त-दुरुस्त रहे पुलिस

जबलपुर। पुलिस कन्ट्रोलरूम जबलपुर में पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा द्वारा शहर में पदस्थ समस्त राजपत्रित अधिकारियों एवं थाना प्रभारियों की बैठक ली गयी।

बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर अमित कुमार , अति. पुलिस अधीक्षक शहर उत्तर अगम जैन, एवं अति. पुलिस अधीक्षक अपराध गोपाल प्रसाद खाण्डेल तथा शहर में पदस्थ समस्त राजपत्रित अधिकारी एंव थाना प्रभारी शहर उपस्थित थे ।

श्री बहुगुणा ने सभी को आदेशित किया कि महिलाओं, बच्चों, वृद्धों एवं समाज के कमजोर वर्गो के प्रति संवेदनशील रहते हुये इनके द्वारा की गयी शिकायतों पर तत्काल विधिसंगत कार्यवाही करते हुये राहत पहुचंाये, इसमें किसी प्रकार की लापरवाही नहीं होना चाहिये, आपके द्वारा की गयी कार्यवाही निष्पक्ष एवं पारदर्शी हो सुनिश्चित करें।

कोरोना वायरस संक्रमण को ध्यान मे रखते हुये शासन द्वारा दुर्गोत्सव पर्व को लेकर निर्देश जारी किये गये है, जारी निर्देशों के सम्बंध में थाने मे पदस्थ समस्त अधिकारी/कर्मचारियों को बताया जाये तथा दुर्गा उत्सव समिति के आयोजकों से चर्चा कर सभी को अवगत कराया जाये।

दुर्गा प्रतिमाओं की स्थापना हेतु शीघ्र ही पंण्डाल बनाये जायेंगे, सुनिश्चत करायें कि बनाये जाने वाले सभी पण्डाल परम्परागत हों, विवादित स्थल पर न हों, बनाये जाने वाले पण्डाल से मार्ग अवरूद्ध न हों, उपर से विद्युत लाईन का तार न जा रहा हो, तथा विघुत साज सजावट मे कटे-फटे तार का उपयोग न किया जाये, एवं रोड को क्रास करती हुई विद्युत साज-सज्जा नहीं होनी चाहिये, रोड के किनारे विद्युत साज-सज्जा इस प्रकार की जाये जिससे आवागमन बाधित न हो। किसी भी प्रकार का कोई भी आयोजन/कार्यक्रम बिना अनुमति के नहीं होगा।

साथ ही ऐसे प्रसिद्ध मंदिर जिनमें श्रद्धालुओं की अधिक भीड़ होती है मंदिर समिति से बैठक कर शासन के निर्देशों से अवगत कराते हुए प्रवेश एवं निर्गम का मार्ग अलग अलग हो सुनिश्चित कराएं तथा जिन मार्गों से श्रद्धालुओं का आना जाना होगा उन मार्गों पर पर्याप्त प्रकाश व्यवस्था हो सुनिश्चित करें ।

अशांति प्रिय व्यक्तियों पर सख्त निगरानी
एैसे समय में कुछ अशांतिप्रिय एवं विध्नसंतोषी तत्व सक्रीय रहते है, जो पर्व केे दौरान व्यवधान उत्पन्न करने का प्रयास करते है, एैसे लोगो पर सतत निगाह रख कालोनी एवं मोहल्लों में प्रतिदिन भ्रमण करें।

समाज के हर वर्ग के लोगों से आप सभी संवाद स्थापित करें, इससे आपको महत्वपूर्ण सूचनायें प्राप्त होंगी जो आने वाले दिनों में शांति एंव कानून व्यवस्था बनाये रखने में काफी उपयोगी होगी। एैसे आसमाजिक तत्व जिनके सम्बंध मे जरा भी अन्देशा है कि वे अशांति का वातावरण निर्मित कर सकते है चिन्हित करते हुये उनके विरूद्ध उनके अपराधिक रिकार्ड को दृष्टिगत रखते हुये प्रभावी प्रतिबंधात्मक कार्यवाही जिला बदर, एनएसए, की कार्यवाही करें।

छोटी से छोटी घटना, की सूचना मिलने पर तत्काल पहुॅचे एवं विधि सम्मत कार्यवाही करें, किसी भी घटना को अनदेखा न करें। कार्यवाही निष्पक्ष हो इस बात का विशेष ध्यान रखें।

विसर्जन स्थलों पर विशेष ध्यान

विसर्जन स्थलों के संबध मे विसर्जन घाटो की साफ सफाई, विसर्जन स्थल तक पहुच मार्ग का दुरूस्तीकरण , पर्याप्त प्रकाश व्यवस्था, नाविको की व्यवस्था , विसर्जन स्थल पर पार्किंग व्यवस्था यथा सम्भव सम्बंिधत विभाग से संपर्क कर त्वरित निराकरण कराना सुनिश्चित करा लें ताकि विसर्जन के दिन किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो।

गुंडे बदमाशों पर कार्यवाही
गुण्डे बदमाशों एवं चाकूबाजों के विरुद्ध उनके आपराधिक रिकार्ड को दृष्टिगत रखते हुए प्रभावी प्रतिबंधात्मक कार्यवाही की जाय , इसके साथ ही पूर्व में पकड़े गए संपत्ति संबंधी अपराधियों की चेकिंग करते हुए उनके गुजर-बसर की जाॅच की जाय। प्रायः देखा गया है कि पूर्व में पकडे गए संपत्ति संबंधी अपराधियों के द्वारा ही घटनाये की जाती है।

शासकीय वाहन दुरुस्त हालत में हो
शासकीय वाहन दुरूस्त हालत मे होने चाहिये यदि उसमे कोई कमी है तो तत्काल ठीक करा लें, वाहनो का पीए सिस्टम चालू हालत मे हो, वाहनों में बलवा ड्रिल सामाग्री, टियर गैस, वीडियो कैमरा, टार्च रस्सा आवश्यक रूप से रखे, छोटी सी घटना की जानकारी भी लगती है तो तत्काल मौके पर पहुंचकर वैधानिक कार्यवाही करें, हमारी कार्यवाही निश्पक्ष होना चाहिये हमारा प्रमुख उद्देश्य शांति एवं सुरक्षा व्यवस्था बनाये रखना है इसमे किसी भी प्रकार की कोई लापरवाही नहीं होना चाहिये।

शराबियों पर सख्त निगाहें
सार्वजनिक स्थल पर शराबखोरी नहीं होना चाहिए, प्रतिदिन शाम के समय ऐसे सार्वजनिक स्थान एवं शराब की दुकानें जिनके आस-पास शराबखोरी होती है भ्रमण करें मिलने पर वैधानिक कार्यवाही करें। जुआ-सट्टा नहीं होना चाहिए, वर्तमान में चल रहे आइ.पी.एल. के सट्टे पर भी आपकी नजर होना चाहिए

संक्रमित पुलिस कर्मचारियों से प्रतिदिन बात
कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के सम्बंध में थानें मे पदस्थ अधिकारी/कर्मचारियो को प्रतिदिन गणना मे ब्रीफ किया जाये एवं चर्चा कर उन्हें किसी प्रकार की कोई परेशानी तो नहीं है पूछा जाये, तथा संक्रमित अधिकारी/कर्मचारियों से प्रतिदिन बात करते हुये उनकी समस्याओं का त्वरित निदान करें।