Live Updates: Katni OFK गोलीकांड रात में सर्चिंग मुश्किल, सुबह का इंतजार

कटनी। आयुध निर्माणी कटनी में सुरक्षा में लगे जवान द्वारा साथी सीनियर जवान की गोलीमार कर हत्या फिर अत्याधुनिक रायफल के साथ फेक्ट्री के अंदर छिपने के मामले ने न सिर्फ निर्माणी प्रशासन वरन पुलिस प्रशासन की भी रात की नींद उड़ा दी है। 4 घण्टे के बाद भी आरोपी सकर सिंह का कोई पता नहीं लग सका है। सूत्रों के मुताबिक फेक्ट्री इतनी बड़ी है कि उसमें किसी एक व्यक्ति को ढूंढ पाना बेहद मुश्किल है। रात में तो और भी जोखिम भरा। ऐसे में रात में आरोपी की सर्चिंग खतरों भरा हो सकता है। अब आसरा सुबह तक का है।

चारों और बढ़ाई सुरक्षा

इधर पुलिस ने फेक्ट्री के चारों ओर बाहरी बाउंड्री पर सुरक्षा बढ़ा दी है ताकि आरोपी किसी भी हालत में यहां से निकल न पाए। फेक्ट्री के अलावा आयुध निर्माणी क्षेत्र में भी पुलिस की गश्त बढ़ा दी गई है। चूंकि सुरक्षा जवान के पास गन है लिहाजा सभी को अलर्ट किया गया है ताकि किसी का भी सहारा लेकर अर्थात बंदूक की नोक पर आरोपी भागने का प्रयास न कर सके।

फेक्ट्री के चप्पे चप्पे का रहता है ज्ञान

जानकर बताते हैं कि आयुध निर्माणी की सुरक्षा सेना की ही एक विंग करती है ऊँचे स्थान पर चेक पोस्ट से यह जवान निरन्तर निगरानी करते हैं किसी भी अवांक्षित गतिविधियों पर नजर रखने के साथ यह गोली भी चला सकते हैं। जिस स्थान पर चेक पोस्ट बनाई जाती है उससे पूरी फेक्ट्री के कोने कोने पर नजर रखी जा सकती है। लिहाजा आरोपी को फेक्ट्री के अंडरुमी हिस्सों की पूरी जानकारी है। इसी का फायदा उठा कर वह छिप गया है।

सेना के उच्चाधिकारियों से बात कराने पर जोर

बताया गया कि आरोपी को लाउडस्पीकर के माध्यम से कर्नल रेंक के अधिकारी से बात कराने की तैयारी है। जिसमे उसे आत्मसमर्पण करने के लिए कहा जायेगा। इसके लिए निर्माणी बोर्ड तथा रक्षा मंत्रालय के बीच बात हो रही है, लेकिन यह काम भी अब रविवार को सुबह ही होगा।

रविवार को केवल इमरजेंसी डियूटी 

अच्छा यह है कि कल रविवार को अवकाश होने के कारण केवल इमरजेंसी डियूटी होती है जिसमे कुछ ही कर्मचारी आते हैं ऐसी स्थिति में यहां कल कर्मचारियों को अंदर नहीं आने दिया जाएगा जब तक आरोपी को पकड़ा नहीं जा सकता। वैसे देखा जाए तो यह काफी गम्भीर मामला है जिसमे एक जवान के इस तरह हत्या करने फिर गन के साथ छिपने का मामला हुआ है। जबलपुर से राजधानी तक निर्माणी प्रबंधन तथा इसकी सुरक्षा करने वाली सेना की टुकड़ी के कान खड़े हो गए हैं।

आपको बता दें कि शनिवार की देर शाम यहां एक सुरक्षा जवान सकर सिंह ने अपने साथी सीनियर सुरक्षा जवान अशोक की गोली मारकर हत्या कर दी थी फिर गन के साथ छिप गया था जिसकी तलाश चल रही है।