भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में गिरफ्तार स्टेन स्वामी के पक्ष में उतरे CM हेमंत सोरेन, केंद्र सरकार पर साधा निशाना

रांची। भीमा कोरेगांव मामले में हिरासत में लिए गए स्टेन स्वामी के पक्ष में झारखंड के मुख्‍यमंत्री समेत कांग्रेस के कई नेता उतर आए हैं। मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन ने ट्वीट कर कहा है कि गरी, वंचितों और आदिवासियों की आवाज़ उठाने वाले 83 वर्षीय वृद्ध ‘स्टेन स्वामी’ को गिरफ्तार कर केंद्र की भाजपा सरकार क्या संदेश देना चाहती है? अपने विरोध की हर आवाज को दबाने की ये कैसी जिद्द? बता दें कि स्‍टेन स्‍वामी को एनआइए ने गुरुवार को रांची से गिरफ्तार किया है। इधर, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष समेत कई कांग्रेस नेता भी स्‍टेन स्‍वामी के पक्ष में उतर आए हैं।

एक बयान जारी कर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सह राज्य के वित्त तथा खाद्य आपूर्ति मंत्री डॉ. रामेश्वर उरांव ने अर्बन नक्सलवाद के नाम पर महाराष्ट्र के भीमा कोरेगांव मामले में फादर स्टेशन स्वामी को हिरासत में लिये जाने की कार्रवाई को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है। डॉ. उरांव ने कहा कि अर्बन नक्सलवाद के नाम पर केंद्र सरकार देश के विभिन्न हिस्सों में रहने वाले बुद्धिजीवियों को प्रताड़ित करने की कार्रवाई कर रही है। उन्होंने कहा कि फादर स्टेशन स्वामी 25 वर्षां से रांची में रहकर जनजातीय समुदाय के उत्थान में जुटे हैं, अर्बन नक्सलवाद के नाम पर उन्हें फंसाने की कोशिश की जा रही है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने कहा कि केंद्र सरकार विभिन्न जांच एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है। प्रवक्ता लाल किशोरनाथ शाहदेव ने कहा कि केंद्रीय जांच एजेंसियों का दुरुपयोग करने के साथ ही संवैधानिक संस्थाओं की गरिमा को कम किया जा रहा है, इसका परिणाम आने वाले समय में देश की जनता को भुगतना पड़ेगा। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता राजेश गुप्ता छोटू, आदित्य विक्रम जायसवाल आदि भी स्टेनस्वामी के पक्ष में खुलकर उतरे हैं।