13 से 16 अक्टूबर के बीच MP के कई जिलों में हो सकती है बारिश, कृषक के लिए जरूरी खबर

जबलपुर। मध्य प्रदेश के पश्चिमी भागों में मौसम लगभग शुष्क बना हुआ है। जबकि पूर्वी जिलों में पिछले दिनों हल्की से मध्यम बारिश देखी गई है।

इस समय एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र आंध्र प्रदेश के दक्षिणी तटों पर बना हुआ है तथा बंगाल की खाड़ी पर विकसित हुआ एक नया निम्न दबाव का क्षेत्र पश्चिम दिशा में बढ़ते हुए आंध्र प्रदेश के तटों की तरफ बढ़ेगा।

इन मौसमी सिस्टमों के प्रभाव से 10 अक्टूबर से मध्य प्रदेश के पूर्वी तथा दक्षिण पूर्वी जिलों में वर्षा की गतिविधियां शुरू हो जाएंगी। 11 और 12 तारीख को वर्षा की गतिविधियां बढ़ सकती हैं।

12 तारीख को गुना, भोपाल, शाजापुर, देवास आदि पश्चिमी जिलों में भी वर्षा की गतिविधियां बढ़ेंगी। 13 से 16 अक्टूबर के बीच मध्य प्रदेश के अधिकांश जिलों में मध्यम से भारी बारिश होने की भी संभावना है। उस दौरान ग्वालियर संभाग में भी वर्षा की गतिविधियां बढ़ेंगी जहां कई दिनों से मौसम शुष्क बना हुआ है।

कृषि वैज्ञानिक श्रीमती रश्मि शुक्ला ने बताया कि बारिश के लिहाज से हम कह सकते हैं कि मध्य प्रदेश में इस सप्ताह व्यापक वर्षा होने वाली है। इस समय खरीफ फसल की कटाई जारी है। इस बारिश से कुछ नुकसान हो सकता है।

यह वर्षा का पूर्वानुमान किसान भाइयों को पहले से ही आगाह करने के लिए है जिससे कि वह अपनी तैयारी पूरी रखें।