जबलपुर से अपहृत 4 माह का मासूम नरसिंहपुर में मिला,

जबलपुर. मध्यप्रदेश के जबलपुर स्थित ग्राम धाधरा बरगी से 4 माह के बालक को पुलिस ने नरसिंहपुर से बरामद कर लिया है, पुलिस ने मामले में संगठित गिरोह के चार सदस्यों को हिरासत में ले लिया है, जिन्होने बच्चे को बेचने के लिए मुम्बई में सौदा किया था. इस आशय की जानकारी एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने कंट्रोल रुम में आयोजित पत्रवार्ता में दी है.

एसपी श्री बहुगुणा ने बताया कि ग्राम धाधरा बरगी निवासी राजेश बरकड़े के 4 माह के बेटे रिहांश को 19 सितम्बर की देर रात चाची रामप्यारी बाई उर्फ अंजना पति सुखदेव बरकड़े उम्र 40 वर्ष निवासी धाधरा बरगी ने अपहरण कर लिया, मासूम बालक का अपहरण करने के बाद रामप्यारी ने बालक को गॉव में परिचित संजय पांडे निवासी बजरंग नगर गढा को दे दिया. पुलिस ने जांच को आगे बढ़ाते हुए संजय व उसकी पत्नी शारदा पांडेय को हिरासत में लिया तो यह जानकारी लगी कि बाल को नरसिंहपुर में रिश्तेदार रानू शर्मा उर्फ आयशा के पास छोड़ दिया है, बच्चे को बरामद करने के बाद जब आरोपियों से पूछताछ की गई तो पता चला कि शारदा पांडेय ने बच्चा बेचने के लिए मुम्बई के बदमाशों से सौदा किया था, जिसके चलते शारदा पांडेय ने रामप्यारी बरकड़े को दस हजार रुपए देने का लालच दिया था.

शारदा पांडेय की रामप्यारी से पहले से पहचान रही जिसके चलते उसने यह काम सौपा था. बच्चा बरामद करने के बाद पुलिस अब पकड़े आरोपियों से पूछताछ करने में जुटी है कि उन्होने इस तरह की और भी घटनाओं को अंजाम दिया है या नहीं.

ऐसे चली तलाश-

पुलिस ने मामले में करीब 100 से ज्यादा लोगों से पूछताछ की, यहां तक कि पड़ोस के लखन, अंगद ने भी पुलिस को सहयोग करते हुए तलाश की, आसपास के नाले, जंगल में पुलिस की टीमें लगातार जुटी रही. इसके बाद संदेही चाची रामप्यारी बाई से सख्ती से पूछताछ की गई तो उसने दस हजार रुपए की लालच में बच्चा चोरी करना स्वीकार किया. साजिश के तहत रामप्यारी ने बच्चा गांव में ही परिचित संजय पांडेय को दे दिया, जिसे बच्चे को नरसिंहपुर पहुंचा दिया.

 इनकी रही सराहनीय भूमिका

आरोपियों को पकडऩे में बरगी टीआई शिवराजसिंह चौहान, एसआई आशुतोष मिश्रा, कांति ब्रम्हे, कुलदीप पटैल, शशिकला उईके, एएसआई रविसिंह परिहार, प्रधान आरक्षक सुरेश तिवारी, रामकरण मिश्रा, सियाराम, आरक्षक अरविंद, इद्रकुमार, कौरव, आदित्य, पोहप सिह, रवि शर्मा, प्रदीप तिवारी, महिला आरक्षक काजोल धुर्वे, कविता बघेल, आरक्षक चालक सत्यप्रकाश शर्मा थाना बरगी, प्रधान आरक्षक सच्चिंदानद थाना तिलवारा, क्राईम ब्राच के सहायक उप निरीक्षक रामसनेही शर्मा, प्रधान आरक्षक मृदलेश शर्मा, आरक्षक अजय जैन, संतोष सिह, अनुप सिह, रवि सागर, मानस उपाध्याय, राजेश केवट, अजीत पटेल, अनुप शर्मा, सत्यसेन , जितेन्द्र दुबे, ज्ञानेन्द्र पाठक, महिला आरक्षक पूनम पाण्डे, नेहा दुबे थाना हनुमानताल सायबर सेल के उप निरीक्षक नीरज नेगी, आरक्षक अभिषेक मिश्रा की सराहनीय भूमिका रही.