संगरूर पहुंची राहुल की ‘खेती बचाओ यात्रा’, कैप्टन बोले- कानून बदला जा सकता है, कोशिश तो करें

कांग्रेस नेता राहुल गांधी और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की ‘खेती बचाओ यात्रा’ संगरूर पहुंच चुकी है। भवानीगढ़ की अनाज मंडी में दोनों दिग्गज नेताओं ने विशाल रोष रैली को संबोधित किया।

कैप्टन ने कहा कि कानून बन चुका है। दोनों सदनों में वह पारित हो चुका है। राष्ट्रपति की मुहर लग चुकी है, लेकिन किसने कहा कि कानून में संशोधन नहीं हो सकता। मेरी दुआ है कि राहुल गांधी देश के प्रधानमंत्री बनें, ताकि वे इस काले कानून को रद्द करके किसानों को राहत प्रदान करें। कानून में बदलाव संभव हैं, जरूरत बस कोशिश करने की होती है।

The law is made. The bills have been passed in the Parliament. But who says that an amendment cannot be made to those laws. I request Rahul ji to scrap these black laws when he becomes the PM with a majority in the Lok Sabha: Capt Amarinder Singh, Punjab CM, on the new farm laws pic.twitter.com/Kiotxos7zL
— ANI (@ANI) October 5, 2020
पंजाब सरकार हमेशा किसानों के लिए खड़ी है

कैबिनेट मंत्री विजयइंद्र सिंगला ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा पारित कृषि कानूनों के विरोध में देश के लोगों को एकजुट होकर रोष प्रदर्शन करने की जरूरत है, ताकि पंजाब सहित अन्य खेती प्रधान राज्यों के साथ-साथ देश की आर्थिकता को तबाह होने से बचाया जा सके।

मोदी सरकार द्वारा पारित किए गए काले खेती कानूनों के लागू होने से खेती प्रधान राज्यों के किसान, आढ़ती, मजदूर और इस क्षेत्र से जुड़े अन्य व्यक्तियों का भविष्य तबाह हो जाएगा। कृषि ही देश की आर्थिक स्थिति का आधार है और केंद्र यह कानून पास करके देश की आर्थिकता को तोड़ने की कोशिश कर रही है।

इसका सीधा फायदा कारपोरेट घरानों को होगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की अगुवाई वाली पंजाब सरकार हमेशा किसानों के लिए खड़ी है।